आइसा ने हिंदू कॉलेज के प्रोफेसर की गिरफ्तारी के विरोध में प्रदर्शन किया

AISA
ani
वाम दलों से संबद्ध छात्र संगठन ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (आइसा) के कार्यकर्ताओं ने शनिवार को हिंदू कॉलेज के एसोसिएट प्रोफेसर रतन लाल की गिरफ्तारी के विरोध में दिल्ली विश्वविद्यालय के कला संकाय के बाहर प्रदर्शन किया।

नयी दिल्ली। वाम दलों से संबद्ध छात्र संगठन ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (आइसा) के कार्यकर्ताओं ने शनिवार को हिंदू कॉलेज के एसोसिएट प्रोफेसर रतन लाल की गिरफ्तारी के विरोध में दिल्ली विश्वविद्यालय के कला संकाय के बाहर प्रदर्शन किया। लाल को वाराणसी स्थित ज्ञानवापी मस्जिद परिसर के अंदर ‘शिवलिंग’ पाए जाने के दावों को लेकर सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट करने के आरोप में शुक्रवार की रात गिरफ्तार किया गया था।

इसे भी पढ़ें: दिल्ली सरकार को स्कूलों में छात्राओं को सैनिटरी नैपकिन देने के निर्देश के लिए याचिका दायर

छात्र कार्यकर्ता तख्तियां लिए हुए थे जिन पर लिखा था, ‘‘हमारे शिक्षकों पर हमला बंद करो’’, ‘‘लोकतांत्रिक आवाज पर अंकुश लगाना बंद करो’’ और ‘‘प्रोफेसर रतन लाल को रिहा करो’’। प्रदर्शन के दौरान भारी पुलिस बल तैनात रहा। पुलिस ने कहा कि जिला पुलिस के अलावा महिला पुलिसकर्मियों सहित बाहरी सुरक्षा बल की चार कंपनियां तैनात की गई हैं। दिल्ली के एक वकील की शिकायत पर मंगलवार रात लाल के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई थी।

इसे भी पढ़ें: चीन की नापाक साजिश के बीच अरुणाचल में अमित शाह, कहा- जो रास्ता भटक गए...

वकील विनीत जिंदल ने अपनी शिकायत में कहा कि प्रोफेसर ने हाल में ‘‘शिवलिंग पर अपमानजनक, उकसाने वाला और भड़काऊ ट्वीट’’ साझा किया था। लाल पर भारतीय दंड संहिता की धारा 153ए (धर्म, जाति, जन्म स्थान, निवास, आदि के आधार पर विभिन्न समूहों के बीच शत्रुता को बढ़ावा देना) और 295ए (धर्म का अपमान कर किसी वर्ग की धार्मिक भावनाओं को आहत करने के लिए जानबूझकर किया गया कृत्य) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़