कोरोना वायरस के ओमीक्रोन स्वरूप के मद्देनजर तेलंगाना और तमिलनाडु में अलर्ट

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 29, 2021   08:38
कोरोना वायरस के ओमीक्रोन स्वरूप के मद्देनजर तेलंगाना और तमिलनाडु में अलर्ट
प्रतिरूप फोटो

मिलनाडु सरकार ने ओमीक्रोन के मद्देनजर रविवार को जिला प्रशासन को निगरानी तेज करने और फील्ड परीक्षण करने का निर्देश दिया और कहा कि यह डेल्टा स्वरूप की तुलना में काफी अधिक संक्रामक है।

हैदराबाद/चेन्नई| तेलंगाना सरकार ने रविवार को कहा कि उसने कोरोना वायरस के नए स्वरूप ओमीक्रोन के खतरे को देखते हुए निगरानी प्रणाली को मजबूत किया है और टीमों को सतर्क कर दिया है। वहीं, तमिलनाडु सरकार ने भी ओमीक्रोन स्वरूप को लेकर जिलों को परामर्श जारी किया है।

इस बीच, तेलंगाना में कोरोना वायरस संक्रमण के 135 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या 6,75,614 तक पहुंच गई है।

इसे भी पढ़ें: लॉकडाउन से बचने के लिए कोविड उपयुक्त व्यवहार अपनाएं : ठाकरे ने लोगों से कहा

इसके अलावा एक और रोगी की मौत के साथ ही मृतकों की तादाद 3,989 तक पहुंच गई है। राज्य के जन स्वास्थ्य निदेशक जी श्रीनिवास ने पत्रकारों से कहा कि दक्षिण अफ्रीका, बोत्सवाना, हांगकांग और कुछ यूरोपीय देशों में नए ओमीक्रोन स्वरूप का पता चला है और इसलिए वहां से टीकाकरण कराकर आने वालों को भी घरों में पृथक कर निगरानी की जाएगी।

उन्होंने कहा कि जिन लोगों का टीकाकरण नहीं हुआ है या आंशिक रूप से टीका लगाया गया है, उनकी जांच की जाएगी और यदि कोई संक्रमित पाया गया तो उनके नमूनों को जीनोम अनुक्रमण के लिए सीडीएफडी प्रयोगशाला भेजा जाएगा।

स्वास्थ्य विभाग के एक बुलेटिन में कहा गया है कि राज्य में उपचाराधीन रोगियों की संख्या 3,535 है। आज कुल 22,356 नमूनों की कोविड-19 जांच की गई। राज्य में अब तक 2,85,11,075 नमूनों की जांच की जा चुकी है। बुलेटिन में कहा गया है कि राज्य में 144 लोगों के संक्रमण से उबरने के बाद ठीक हो चुके लोगों की संख्या 6,68,090 हो गई है।

वहीं, तमिलनाडु सरकार ने ओमीक्रोन के मद्देनजर रविवार को जिला प्रशासन को निगरानी तेज करने और फील्ड परीक्षण करने का निर्देश दिया और कहा कि यह डेल्टा स्वरूप की तुलना में काफी अधिक संक्रामक है।

मीडिया के साथ साझा किए गए जिला अधिकारियों को लिखे एक पत्र में, राज्य के स्वास्थ्य सचिव जे राधाकृष्णन ने कहा कि केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने उन्हें एक नए स्वरूप के उभरने के बारे में पत्र लिखा है और राज्यों को सतर्क रहने का निर्देश दिया है। जिला कलेक्टरों को निर्देशों से अवगत कराया गया है।

इसे भी पढ़ें: कोरोना वायरस के ओमीक्रोन स्वरूप को लेकर नीतीश कुमार ने बिहार के स्वास्थ्य अधिकारियों को किया आगाह

जबकि स्वास्थ्य मंत्री और विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों ने चेन्नई हवाई अड्डे पर जमीनी हकीकत का निरीक्षण किया। पत्र में कहा गया है ओमीक्रोन डेल्टा स्वरूप की तुलना में काफी संक्रामक है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...