लॉकडाउन से बचने के लिए कोविड उपयुक्त व्यवहार अपनाएं : ठाकरे ने लोगों से कहा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 29, 2021   08:17
लॉकडाउन से बचने के लिए कोविड उपयुक्त व्यवहार अपनाएं : ठाकरे ने लोगों से कहा

ठाकरे ने अधिकारियों से कहा, ‘‘कोविड-19 के नए खतरनाक स्वरूप से बचने के लिए जो भी करना पड़े कीजिए। केंद्र सरकार के निर्देशों का इंतजार किए बगैर काम शुरू कर दीजिए।’’ उन्होंने कहा, ‘‘नागरिकों को कोविड उपयुक्त व्यवहार अपनाने की जरूरत है, ताकि राज्य में एक और लॉकडाउन से बचा जा सके।’’

मुंबई| महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार को कहा कि राज्य में कोरोना वायरस के कारण एक और लॉकडाउन से बचने के लिए लोगों को कोविड उपयुक्त व्यवहार अपनाना चाहिए।

उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वायरस के नए स्वरूप ओमीक्रोन से नागरिकों की रक्षा के लिए केंद्र के निर्देश की प्रतीक्षा किए बगैर आवश्यक कदम उठाएं।

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस ने गलत इतिहास पढ़ाया कि भारत, महात्मा गांधी, नेहरु और इंदिरा की वजह से ही आजाद हुआ:चौहान

वह राज्य में कोविड-19 की स्थिति के बारे में चर्चा करने और दक्षिण अफ्रीका में पता चले ओमीक्रोन स्वरूप को देखते हुए एहतियाती कदम उठाने के लिए संभागीय आयुक्तों एवं जिलाधिकारियों के साथ डिजिटल बैठक में बोल रहे थे।

ठाकरे ने अधिकारियों से कहा, ‘‘कोविड-19 के नए खतरनाक स्वरूप से बचने के लिए जो भी करना पड़े कीजिए। केंद्र सरकार के निर्देशों का इंतजार किए बगैर काम शुरू कर दीजिए।’’ उन्होंने कहा, ‘‘नागरिकों को कोविड उपयुक्त व्यवहार अपनाने की जरूरत है, ताकि राज्य में एक और लॉकडाउन से बचा जा सके।’’

मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) ने एक बयान जारी कर बताया कि बैठक के दौरान ठाकरे ने अधिकारियों से कहा कि राज्य के हवाई अड्डों पर आने वाले यात्रियों पर नजर रखें।

इसे भी पढ़ें: अभिनेत्री कंगना के खिलाफ मुकदमे के लिए अदालत में प्रार्थना पत्र प्रस्तुत





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।