मप्र में बाल कांग्रेस का गठन, वास्तविक इतिहास बताया जाएगा : कांग्रेस

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 15, 2021   08:57
मप्र में बाल कांग्रेस का गठन, वास्तविक इतिहास बताया जाएगा : कांग्रेस
प्रतिरूप फोटो

प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ ने रविवार को इस संगठन का शुभारंभ करते हुए प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में कहा, इसका उद्देश्य सही इतिहास और संस्कृति को जानकर भविष्य को सुरक्षित करना है क्योंकि व्हाट्सएप, फेसबुक, इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया मंचों पर झूठ फैलाने के लिए एक बड़ी मशीनरी काम कर रही है।

भोपाल| कांग्रेस की मध्य प्रदेश इकाई ने रविवार को 16-20 आयु वर्ग के किशोरों के लिए बाल कांग्रेस नामक एक नए संगठन का गठन किया। कांग्रेस ने दावा किया है कि इस संगठन के लोगों को वास्तविक इतिहास सिखाया जाएगा न कि आजकल सोशल मीडिया के माध्यम से फैलाया जा रहा झूठ।

प्रदेश कांग्रेस ने कहा कि देश भर में बाल दिवस के रुप में मनायी जाने वाली पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरु की जयंती के अवसर पर रविवार को गठित इस नए संगठन में 16 से 20 वर्ष की आयु के एक हजार लोग सदस्य बने हैं।

प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ ने रविवार को इस संगठन का शुभारंभ करते हुए प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में कहा, ‘‘ भविष्य तभी सुरक्षित होता है जब वास्तविक इतिहास को जाना जा सके। इन दिनों इतिहास के नाम पर झूठ फैलाने का प्रयास किया जा रहा है और युवाओं को सतर्क रहने की जरुरत है।’’

उन्होंने कहा कि यह संगठन यह सुनिश्चित करेगा कि युवा अच्छे नागरिक बने और नेहरु के सपनों का भारत बनाने की दिशा में काम करें।

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस ने उदित राज को असंगठित श्रमिक एवं कर्मचारी कांग्रेस का अध्यक्ष नियुक्त किया

उन्होंने कहा कि इसका उद्देश्य सही इतिहास और संस्कृति को जानकर भविष्य को सुरक्षित करना है क्योंकि व्हाट्सएप, फेसबुक, इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया मंचों पर झूठ फैलाने के लिए एक बड़ी मशीनरी काम कर रही है।

उन्होंने कहा कि दुनिया में ऐसा कोई देश नहीं है जहां इतनी विविध संस्कृतियां, भाषाएं हों लेकिन हमारी विविधता में एकता की भावना पर हमला करने के प्रयास किए जा रहे हैं, ऐसे में बाल कांग्रेस के सदस्य देश के भविष्य के रक्षक होगें।

इससे पहले शनिवार को कांग्रेस के प्रवक्ता ने जानकारी दी थी कि बाल कांग्रेस कोई राजनीतिक संगठन नहीं होगा। इस संगठन से जुड़े किशोरों को देशभक्ति और राष्ट्र निर्माण के संदेश को फैलाने के लिए कांग्रेस और स्वतंत्रता संग्राम का इतिहास पढ़ाया जाएगा।

उन्होंने कहा कि संगठन में किशोरों को भाषण कला, व्यक्तित्व विकास और संचार कौशल जैसे विषयों के बारे में पढ़ाया जाएगा और स्वतंत्रता सेनानियों के परिजनों से भी संपर्क कराया जाएगा।

इसे भी पढ़ें: सीबीआई, ईडी निदेशकों के कार्यकाल बढ़ाने के लिए अध्यादेश पर कांग्रेस ने सरकार पर निशाना साधा





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।