निरुपम की कांग्रेस को नसीहत, विधायकों के दबाव में आकर न दें शिवसेना को समर्थन

निरुपम की कांग्रेस को नसीहत, विधायकों के दबाव में आकर न दें शिवसेना को समर्थन

संजय निरुपम ने कहा कि सालों पहले उत्तर प्रदेश में बसपा के साथ गठबंधन करके कांग्रेस ने गलती की थी। तब से ऐसी पिटी कि आज तक नहीं उठ पाई।

नयी दिल्ली। मुंबई कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष संजय निरुपम ने कांग्रेस के आलानेताओं को नसीहत दी है। महाराष्ट्र में कांग्रेस-एनसीपी द्वारा शिवसेना को समर्थन दिए जाने के मुद्दे पर निरुपम ने कहा कि सरकार में शामिल होना पार्टी को दफन करने जैसा होगा, सालों पहले उत्तर प्रदेश में कांग्रेस ने बसपा के साथ गठबंधन करके यह गलती की थी।

इसे भी पढ़ें: सरकार गठन पर चल रही चर्चा पूरी ! महाराष्ट्र की कुर्सी पर शिवसेना ही करेगी राज

निरुपम ने कहा कि सालों पहले उत्तर प्रदेश में बसपा के साथ गठबंधन करके कांग्रेस ने गलती की थी। तब से ऐसी पिटी कि आज तक नहीं उठ पाई। महाराष्ट्र में हम वही गलती कर रहे हैं। शिवसेना की सरकार में तीसरे नंबर की पार्टी बनना कांग्रेस को यहां दफन करने जैसा है। बेहतर होगा, कांग्रेस अध्यक्ष विधायकों के दबाव में न आएं।

इसे भी पढ़ें: संजय राउत का दावा, सरकार गठन पर अगले दो दिन में होगा अंतिम निर्णय

आपको बता दें कि महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक हुई। माना जा रहा है कि पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी शिवसेना को समर्थन देने की बात मान ली है। हालांकि संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा कि इस बैठक में कांग्रेस-एनसीपी की बैठक के बारे में जानकारी दी गई है और शुक्रवार तक कोई फैसला होने की उम्मीद है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।