छात्रों के भविष्य से खिलवाड़ कर रही भाजपा सरकार-कांग्रेस प्रवक्ता बोले- सर्वशिक्षा अभियान के बजट का हो रहा दुरुपयोग

छात्रों के भविष्य से खिलवाड़ कर रही भाजपा सरकार-कांग्रेस  प्रवक्ता  बोले- सर्वशिक्षा अभियान के बजट का हो रहा दुरुपयोग

उन्होंने कहा कि सरकार ने चार वर्षों में शिक्षा प्रणाली को तहस-नहस कर दिया है।भाजपा सरकार अपने चार साल के कार्यकाल में मेधावी छात्रों को लेपटॉप तक देने में नाकामयाब रही है।पिछले तीन वर्षों से छात्रों को लेपटॉप नहीं मिले हैं। दूसरी तरफ पुस्तक खरीद में भी घोटाला सामने आया है।सरकार हर घोटाले को दबाने का काम कर रही है।

 शिमला    नई शिक्षा नीति के नाम पर सर्वशिक्षा अभियान के बजट का दुरुपयोग किया जा रहा है।सरकार निजी महंगे होटलों में सेमिनार के नाम पर सर्वशिक्षा अभियान के बजट को उड़ा रही है।यह फ़िज़ूलख़र्ची है और छात्रों के धन का दुरुपयोग है। यह आरोप प्रदेश कांग्रेस कमेटी के वरिष्ठ प्रवक्ता दीपक शर्मा ने आज भाजपा सरकार पर लगाए।

 

इसे भी पढ़ें: ड्रिग्री फर्जीवाडे की जांच न होने पर कांग्रेस हुई मुखर तो शांता कुमार ने भी अपनी ही सरकार की मंशा पर सवाल उठाया

 

उन्होंने कहा कि सरकार ने चार वर्षों में शिक्षा प्रणाली को तहस-नहस कर दिया है।भाजपा सरकार अपने चार साल के कार्यकाल में मेधावी छात्रों को लेपटॉप तक देने में नाकामयाब रही है। पिछले तीन वर्षों से छात्रों को लेपटॉप नहीं मिले हैं। दूसरी तरफ पुस्तक खरीद में  भी घोटाला सामने आया है।सरकार हर घोटाले को दबाने का काम कर रही है।

 

 

उन्होंने कहा कि शिक्षण प्रणाली को भाजपा सरकार ने ध्वस्त कर दिया है।छात्रों के भविष्य की सरकार को कोई चिंता नहीं है। दीपक शर्मा ने कहा कि एक ओर सरकार छात्रों को मोबाइल देने के लिए दान मांग रही है दूसरी ओर निजी होटलों में आयोजन कर धन की बर्बादी की जा रही है।उन्होंने कहा कि जितना धन निजी होटलों में सेमिनार के नाम पर बर्बाद किया गया उससे 4000 छात्रों को मोबाइल दिए जा सकते थे।

 

इसे भी पढ़ें: वाणिज्य और उद्योग, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री पीयूष गोयल कल से हिमाचल दौरे पर

 

कांग्रेस नेता ने कहा कि फ़िज़ूलख़र्ची और भ्र्ष्टाचार करने में सरकार ने नए कीर्तिमान स्थापित किए हैं। दीपक शर्मा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी भाजपा सरकार द्वारा शिक्षा प्रणाली से किए जा रहे खिलवाड़ के खिलाफ पूरे प्रदेश में विरोध प्रदर्शन करके सरकार की नाकामियों और भ्र्ष्टाचार को उजाहर करेगी।उन्होंने कहा कि सरकार को छात्रों के भविष्य की कोई चिंता नहीं है।सरकार ने अबतक शिक्षा प्रणाली को चुस्त दुरुस्त करने की ओर कोई ध्यान नहीं दिया है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।