भाजपा सरकार ने एम्बुलेंस सेवा चालकों को किया दाने-दाने को मोहताज : अखिलेश यादव

 Akhilesh Yadav
ani
समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश में संचालित एम्बुलेंस सेवा 108 के चालकों को सरकार के अहंकार और अन्याय का शिकार करार देते हुए रविवार को कहा कि इनमें से तमाम लोगों की नौकरी जाने से उनके परिवार दाने-दाने को मोहताज हो रहे हैं।

लखनऊ। समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश में संचालित एम्बुलेंस सेवा 108 के चालकों को सरकार के अहंकार और अन्याय का शिकार करार देते हुए रविवार को कहा कि इनमें से तमाम लोगों की नौकरी जाने से उनके परिवार दाने-दाने को मोहताज हो रहे हैं। यादव ने यहां एक बयान में यह आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि एम्बुलेंस चालकों को सरकार के अहंकार और अन्याय की वजह से अपने जीवन में तकलीफें झेलनी पड़ रही हैं, तमाम चालकों की नौकरी जाने से उनके परिवार दाने-दाने को मोहताज हो रहे हैं, जनहित में नई एम्बुलेंस की खरीद के साथ चालकों की भी भर्ती होनी चाहिए।

इसे भी पढ़ें: जिसके नाम पर चला किसान आंदोलन, उन्हीं राकेश टिकैत को आखिर क्यों किया गया अलग-थलग?

गौरतलब है कि प्रदेश की 108 एम्बुलेंस सेवा के 570 चालकों को जुलाई 2021 में अनुशासनहीनता और गलत तरीके से हड़ताल करने के आरोप में बर्खास्त कर दिया गया था। उसके बाद से अब तक करीब 9000 एम्बुलेंस चालकों को अलग-अलग आरोपों में बर्खास्त किया जा चुका है। सपा अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं की दुर्दशा के पीछे भाजपा सरकार की अकर्मण्यता और पूंजीपरस्त नीतियां भी है।

इसे भी पढ़ें: पिता ने अपनी ही बेटी का उजाड़ा सुहाग, दामाद को उतारा मौत के घाट

उन्होंने कहा,‘‘ सरकारी अस्पतालों में अव्यवस्था और असुविधाएं हैं। वहां चिकित्सकों और पैरामेडिकल स्टाफ की भी कमी है। दूसरी ओर निजी अस्पतालों और नर्सिंग होम्स की संख्या में रोज-ब-रोज बढ़ोतरी हो रही है। भाजपा की पूंजीपरस्त मानसिकता के चलते गरीब आदमी की कहीं पूछ नहीं है। सरकार सम्पन्न लोगों की जिंदगी खुशहाल बनाने के सभी इंतजाम करने में ही लगी है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़