स्कूल भर्ती घोटाले को लेकर अमित शाह से मिले शुभेंदु अधिकारी, साझा किए 100 से अधिक लोगों के नाम, मिला कार्रवाई का आश्वासन

Amit Shah
Twitter
भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी ने बताया कि स्कूल भर्ती घोटाले का आंकड़ा देकर केंद्रीय गृह मंत्री को बताया कि आजादी के बाद ये सबसे बड़ा घोटाला है। इन्होंने बेरोजगार युवाओं का हक छीना है। गृह मंत्री अमित शाह ने भरोसा दिया है कि इस मामले में कार्रवाई की जाएगी।

नयी दिल्ली। पश्चिम बंगाल के स्कूल भर्ती घोटाले के संबंध में विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी ने मंगलवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की। इस दौरान शुभेंदु अधिकारी ने अमित शाह को स्कूल भर्ती घोटाले का आंकड़ा साझा किया। आपको बता दें कि स्कूल भर्ती घोटाले के केंद्र में रहे पार्थ चटर्जी और उनकी सहयोगी अर्पिता मुखर्जी की गिरफ्तारी हो चुकी है और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) उनसे पूछताछ कर रहा है।

इसे भी पढ़ें: गुस्सा आया, जूते मारकर मिली शांति, ESI अस्पताल में महिला ने पार्थ चटर्जी पर किया हमला 

इसी बीच शुभेंदु अधिकारी ने अमित शाह से मुलाकात कर घोटाले से जुड़े 100 लोगों के नाम साझा किए, जो तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के लिए पैसे एकत्रित करने के लिए जाने जाते हैं। समाचार एजेंसी एएनआई के साथ बातचीत में शुभेंदु अधिकारी ने बताया कि स्कूल भर्ती घोटाले का आंकड़ा देकर केंद्रीय गृह मंत्री को बताया कि आजादी के बाद ये सबसे बड़ा घोटाला है। इन्होंने बेरोजगार युवाओं का हक छीना है। गृह मंत्री अमित शाह ने भरोसा दिया है कि इस मामले में कार्रवाई की जाएगी।

इसके अलावा शुभेंदु अधिकारी ने केंद्रीय गृह मंत्री के साथ फोटो शेयर करते हुए एक ट्वीट में लिखा कि अमित शाह से 45 मिनट के लिए मिलना सम्मान की बात की है। मैंने उन्हें बताया कि कैसे पश्चिम बंगाल सरकार स्कूल भर्ती घोटाले जैसी भ्रष्ट गतिविधियों में पूरी तरह से फंसी हुई है। साथ ही उनसे सीएए को जल्द से जल्द लागू करने का अनुरोध किया। 

इसे भी पढ़ें: पार्थ और अर्पिता दे रहे एक जैसा जवाब, कैश क्वीन बोलीं- पैसा मेरा नहीं, मेरी गैरमौजूदगी में रखा गया 

ED हिरासत में हैं पार्थ और अर्पिता

इस मामले में ईडी ने पार्थ चटर्जी और अर्पिता मुखर्जी दोनों ही गिरफ्तार हो चुकी हैं और फिलहाल 3 अगस्त तक ईडी की हिरासत में हैं। ईडी का कहना है कि पार्थ चटर्जी पूछताछ में सहयोग नहीं कर रहे हैं। केंद्रीय एजेंसी के एक अधिकारी ने बताया कि पार्थ चटर्जी ने घोटाले की जांच के संबंध में ईडी के ज्यादातर सवालों का जवाब नहीं दिया है। उन्होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस से निलंबित किए गए नेता पूछताछ के दौरान ज्यादातर वक्त चुप रहे।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़