BJP सांसद प्रज्ञा ठाकुर बोलीं, विदेशी महिला से पैदा हुआ व्यक्ति राष्ट्रवादी नहीं हो सकता, जीतू पटवारी ने दिया ये जवाब

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 29, 2020   08:58
BJP सांसद प्रज्ञा ठाकुर बोलीं, विदेशी महिला से पैदा हुआ व्यक्ति राष्ट्रवादी नहीं हो सकता, जीतू पटवारी ने दिया ये जवाब

भाजपा सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कहा कांग्रेस को तो अपने गिरेबान में झांककर देखना चाहिये। उनमें न तो बोलने की सभ्यता है, न ही पार्टी में संस्कार हैं, न ही उनकी पार्टी में देशभक्ति है। मैं एक बात कहूंगी कि देशभक्ति आयेगी कहां से, जब दो देशों की सदस्यता लेकर रहेंगे।’’

भोपाल। मध्य प्रदेश की भोपाल लोकसभा सीट से भाजपा सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का नाम लिये बिना रविवार को कहा कि ‘‘एक विदेशी महिला से पैदा हुआ व्यक्ति राष्ट्रवादी नहीं हो सकता है।’’ ठाकुर ने यहां प्रदेश भाजपा कार्यालय में एक कार्यक्रम के बाद भारत-चीन के बीच तनाव के संदर्भ में कांग्रेस के आरोपों के बारे में एक सवाल पर पत्रकारों से कहा, ‘‘कांग्रेस को तो अपने गिरेबान में झांककर देखना चाहिये। उनमें न तो बोलने की सभ्यता है, न ही पार्टी में संस्कार हैं, न ही उनकी पार्टी में देशभक्ति है। मैं एक बात कहूंगी कि देशभक्ति आयेगी कहां से, जब दो देशों की सदस्यता लेकर रहेंगे।’’ 

इसे भी पढ़ें: चीन से क्या कनेक्शन है, कांग्रेस को देश की जनता को बताना पड़ेगा: शिवराजसिंह चौहान

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के नेतृत्व में देश सुरक्षित हाथों में है। वहीं, कांग्रेस के मीडिया सेल के प्रभारी और पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने भी प्रज्ञा ठाकुर का नाम लिये बिना उन पर तंज करते हुए ट्वीट किया, ‘‘कोई भी देशभक्त आतंकवादी नहीं हो सकता है। कोई भी गोडसे भक्त देशभक्त नहीं हो सकता है। जाकी रही भावना जैसी, प्रभु मूरत देखी तिन तैसी....।’’ पटवारी अप्रत्यक्ष तौर पर 2008 में महाराष्ट्र के मालेगांव बम विस्फोट मामले के आरोपियों में से एक प्रज्ञा ठाकुर का उल्लेख कर रहे थे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।