भाजपा चाहती है कि राम जन्मभूमि पर जल्द भव्य मंदिर बने: अमित शाह

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 26, 2018   20:46
भाजपा चाहती है कि राम जन्मभूमि पर जल्द भव्य मंदिर बने: अमित शाह

मध्यप्रदेश में चुनाव प्रचार के आखिरी दिन यहां रोड शो के जरिये भाजपा के लिये समर्थन जुटाने की कोशिश के दौरान शाह ने जीत का भरोसा जताया।

इंदौर। राम मंदिर मुद्दा गरमाने के बीच इस विषय में भाजपा की कटिबद्धता दोहराते हुए पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने सोमवार को कहा कि उनकी पार्टी चाहती है कि अयोध्या में राम जन्मभूमि पर जल्द भव्य मंदिर बने। शाह ने यहां भाजपा के चुनावी रोड शो के दौरान संवाददाताओं से कहा, "सभी लोग चाहते हैं कि (अयोध्या स्थित राम जन्मभूमि पर) राम मंदिर का निर्माण जल्द से जल्द हो। हम भी चाहते हैं कि वहां भव्य राम मंदिर जल्द बने।" 

उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि वह राम मंदिर निर्माण में कथित तौर पर बाधाएं पैदा कर रही है। बहरहाल, भाजपा अध्यक्ष ने इस सवाल का सीधा जवाब नहीं दिया कि उनकी पार्टी की अगुवाई वाली केंद्र सरकार अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त करने के लिये अध्यादेश या कानून बनाने का विकल्प इस्तेमाल कर सकती है। उन्होंने इस प्रश्न पर कहा, "उच्चतम न्यायालय में (राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद मामले में) जनवरी में सुनवाई है। देखिये, क्या होता है।" 

मध्यप्रदेश में चुनाव प्रचार के आखिरी दिन यहां रोड शो के जरिये भाजपा के लिये समर्थन जुटाने की कोशिश के दौरान शाह ने जीत का भरोसा जताया। उन्होंने दावा किया कि 28 नवंबर को होने वाले विधानसभा चुनावों में उनकी पार्टी प्रचंड बहुमत हासिल करेगी। गौरतलब है कि राज्य में भाजपा लगातार चौथी बार विधानसभा चुनाव जीतने की चुनौती का सामना कर रही है वहीं कांग्रेस ने सूबे की सत्ता से अपना 15 साल पुराना वनवास खत्म करने के लिए चुनाव प्रचार में एड़ी-चोटी का जोर लगाया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।