कांग्रेस आलाकमान से नाराजगी के बीच कैप्टन अमरिंदर सिंह ने की अमित शाह से मुलाकात, किसान आंदोलन पर हुई लंबी चर्चा

कांग्रेस आलाकमान से नाराजगी के बीच कैप्टन अमरिंदर सिंह ने की अमित शाह से मुलाकात, किसान आंदोलन पर हुई लंबी चर्चा

पंजाब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के साथ टकराव के बाद कैप्टन अमरिंदर ने मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था। इस्तीफा देने के बाद कैप्टन अमरिंदर ने कहा था कि वह अपमानित महसूस कर रहे हैं।

नयी दिल्ली। कांग्रेस आलाकमान से नाराज होकर पंजाब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने वाले कैप्टन अमरिंदर सिंह ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से बुधवार को मुलाकात की। जिसमें करीब 45 मिनट तक चर्चा हुई है।  दरअसल, कैप्टन अमरिंदर बुधवार को दिल्ली आए थे। 

इसे भी पढ़ें: चन्नी ने नाराज सिद्धू से फोन पर की बात, बोले- सर्वोच्च होती है पार्टी, बैठकर करेंगे चर्चा 

पूर्व मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार ने बताया कि कैप्टन अमरिंदर सिंह दिल्ली में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मिले। कृषि कानूनों के खिलाफ लंबे समय तक किसानों के आंदोलन पर चर्चा की और कानूनों को रद्द करने के साथ इसका तत्काल हल करने का आग्रह किया। 

वहीं सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक कैप्टन अमरिंदर सिंह जल्द ही अमित शाह से फिर मुलाकात कर सकते हैं। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ भी मुलाकात की संभावना जताई जा रही है। राजनीतिक गलियारों में चर्चा है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह कांग्रेस को झटका देकर भाजपा का दामन थाम सकते हैं। ऐसे में अमित शाह के साथ हुई बैठक काफी अहम मानी जा रही है। क्योंकि कैप्टन अमरिंदर ने अपने भविष्य को लेकर अभी तक कोई भी पत्ता नहीं खोला ह।

इसे भी पढ़ें: पंजाब को लेकर कांग्रेस में बवाल और राहुल निकले केरल दौरे पर

कैप्टन और सिद्धू के बीच तनातनी 

पंजाब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के साथ टकराव के बाद कैप्टन अमरिंदर ने मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था। इस्तीफा देने के बाद कैप्टन अमरिंदर ने कहा था कि वह अपमानित महसूस कर रहे हैं। हालांकि बाद में कैप्टन अमरिंदर ने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को भी अनुभवहीन बताया था। इस दौरान उन्होंने साफ कर दिया था कि वह आगामी विधानसभा चुनाव में सिद्धू के खिलाफ मजबूत उम्मीदवार उतारेंगे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।