सीडीएस जनरल बिपिन रावत के साले का प्रशासन पर गंभीर आरोप,गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा बोले मैं खुद पूरे मामले को देखूंगा

सीडीएस जनरल बिपिन रावत के साले का प्रशासन पर गंभीर आरोप,गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा बोले मैं खुद पूरे मामले को देखूंगा

दरअसल ये पूरा मामला एक सड़क निर्माण से जुड़ा हुआ है। बिपिन रावत की पत्नी मधुलिका रावत के भाई यशोवर्धन सिंह ने एक फेसबुक पोस्ट लिखा है। इस पोस्ट में उन्होंने लिखा है कि, जिस दिन जीजा जी और जीजी का अंतिम संस्कार किया जा रहा था, उसी वक्त हमारे निजी निवास के परिसर से बिना भूमि अधिग्रहण किये नेशनल हाईवे का निर्माण किया जा रहा है।

बीते 8 दिसंबर को तमिलनाडु के कन्नूर में हुए एक हेलीकॉप्टर हादसे में सीडीएस जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत समेत तेरा अन्य जवान शहीद हो गए थे। अभी सीडीएस की चिता ठंडी भी नहीं हुई है और अभी देश उनको खोने के गम से उबरा भी नहीं है। लेकिन एक खबर आ रही है कि सीडीएस बिपिन रावत के साले ने एक सोशल मीडिया पोस्ट के जरिए सरकार पर आरोप लगाए हैं। इन आरोपों के जवाब में मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि वो खुद पूरे मामले को देखेंगे। क्या है वह मामला जिस पर सीडीएस जनरल बिपिन रावत के साले ने सरकार पर गंभीर आरोप लगाए हैं?

 दरअसल ये पूरा मामला एक सड़क निर्माण से जुड़ा हुआ है। बिपिन रावत की पत्नी मधुलिका रावत के भाई यशोवर्धन सिंह ने एक फेसबुक पोस्ट लिखा है। इस पोस्ट में उन्होंने लिखा है कि, जिस दिन जीजा जी और जीजी का अंतिम संस्कार किया जा रहा था, उसी वक्त हमारे निजी निवास के परिसर से बिना भूमि अधिग्रहण किये नेशनल हाईवे का निर्माण किया जा रहा है। साथ ही किसी हस्तक्षेप पर स्थानीय पुलिस को भी हमारे ऊपर मुकदमा दर्ज करने का आदेश जारी किया गया है, यशोवर्धन सिंह ने इस पूरे मामले में न्याय की मांग की है।

 आपको बता दें कि कटनी से झारखंड के गुमला तक राष्ट्रीय राजमार्ग43  का निर्माण किया जा रहा है। यह राष्ट्रीय राजमार्ग शहडोल से होकर गुजरता है। यह राष्ट्रीय राजमार्ग सीडीएस बिपिन रावत के साले यशोवर्धन सिंह के निवास से होकर गुजर रहा है, यशोवर्धन सिंह ने आरोप लगाया कि उन्हें अभी तक सड़क का पूरा मुआवजा नहीं दिया गया है। जबकि प्रशासन ने उनके परिसर में काम शुरू कर दिया है।

 क्या कहा मध्य प्रदेश के गृह मंत्री ने

 इस पूरे मामले पर गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने ट्वीट कर लिखा है कि, यशोवर्धन जी की सोशल मीडिया पर की गई पोस्ट मेरे संज्ञान में आई है। मैंने इस विषय में एसपी शहडोल से बातचीत कर निर्देश दिए हैं कि पूरा मामला मेरी जानकारी में लाए बिना पुलिस किसी भी तरह का कोई कदम उनके या उनके परिवार के खिलाफ ना उठाएं। अगर पुलिस द्वारा किसी भी तरह से इस मामले पर पूर्वाग्रह बरता गया है और किसी भी तरह की गैर कानूनी कार्यवाई की गई है तो मैं खुद इस पूरे मामले को देखूंगा, और जो भी दोषी होगा उस पर कड़ी कार्यवाई की जाएगी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।