मध्य प्रदेश राजभवन में कोरोना संक्रमित मिलने के बाद राज्यपाल के निजी स्टाफ में किया गया बदलाव

मध्य प्रदेश राजभवन में कोरोना संक्रमित मिलने के बाद राज्यपाल के निजी स्टाफ में किया गया बदलाव

जानकारी के मुताबिक सोमवार को राजभवन के मोटर गैराज में काम करने वाले एक कर्मचारी का 28 वर्षीय पुत्र कोरोना संक्रमित पाया गया है। संक्रमित युवक के अनुसार वह 15 दिन पहले गैस सिलेंडर लेने कैंपस के बाहर गया था, लेकिन इस दौरान उसने शारीरिक दूरी सहित अन्य सभी सावधानियां बरती थी।

भोपाल। मध्य प्रदेश राजभवन में सोमवार को एक कोरोना संक्रमित की पहचान के बाद राज्यपाल के निजी स्टाफ में बदलाव कर दिया गया। वही कड़ी सुरक्षा के बावजूद राजभवन कैंपस में कोरोना का संक्रमण पहुंचने से हड़कंप मच गया है। जिसके बाद यहां के अधिकारी और कर्मचारी क्वारंटाइन हो गए हैं। जानकारी के मुताबिक सोमवार को राजभवन के मोटर गैराज में काम करने वाले एक कर्मचारी का 28 वर्षीय पुत्र कोरोना संक्रमित पाया गया है। संक्रमित युवक के अनुसार वह 15 दिन पहले गैस सिलेंडर लेने कैंपस के बाहर गया था, लेकिन इस दौरान उसने शारीरिक दूरी सहित अन्य सभी सावधानियां बरती थी। वहीं, इसी दौरान कैंपस में एक सब्जी वाला भी आया था। इससे कई लोगों ने सब्जियां ली। इसके बाद से ही कुछ लोगों को बुखार आना शुरू हो गया। उनका इलाज राजभवन की डिस्पेंसरी में कराया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें: मुख्यमंत्री चौहान ने की मंत्रियों से चर्चा, आत्मनिर्भर भारत में होगा मध्य प्रदेश का महत्वपूर्ण योगदान

राजभवन में कोरोना की दस्तक के बाद राज्यपाल लालजी टंडन के निजी स्टाफ में भी जरूरी बदलाव किया गया है। जहाँ कुछ कर्मचारीयों की ड्यूटी हटा दी गई है तो वही राज्यपाल के लिए खाना बनाने से लेकर बंगले के सफाईकर्मियों की भी नए सिरे से तैनाती की गई है। हालंकि राज्य में कोरोना की दस्तक होने के बाद से राजभवन में सभी जरूरी व्यवस्थाएं और सतर्कता बरती जा रही है। राजभवन सचिवालय के सभी कर्मचारीयों का चिकित्सीय परीक्षण करवाया जा चुकी है। इसके अलावा राज्यपाल से मिलने आने वाले अतिथियों को भी परीक्षण के बाद ही पर्याप्त शारीरिक दूरी बनाकर राज्यपाल से मिलने की इजाजत दी जाती है। वही सचिवालय के कर्माचारियों को हर दिन ड्यूटी से पहले थर्मल स्कैनर सहित अन्य परीक्षणों से गुजरना होता है साथ ही राजभवन में सैनिटाइजर और मास्क सहित अन्य सुरक्षात्मक उपाए भी किए गए है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।