महाराष्ट्र, कर्नाटक के मुख्यमंत्रियों और पवार को बेलगावी विवाद पर मुलाकात करनी चाहिए : राउत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 19, 2020   17:39
महाराष्ट्र, कर्नाटक के मुख्यमंत्रियों और पवार को बेलगावी विवाद पर मुलाकात करनी चाहिए : राउत

शिवसेना नेता संजय राउत ने रविवार को कहा कि बेलगावी और आसपास के इलाके के मराठी भाषी लोगों की मांग के समाधान के लिये महाराष्ट्र और कर्नाटक के मुख्यमंत्रियों व राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) प्रमुख शरद पवार को मुलाकात करनी चाहिए।

मुंबई। शिवसेना नेता संजय राउत ने रविवार को कहा कि बेलगावी और आसपास के इलाके के मराठी भाषी लोगों की मांग के समाधान के लिये महाराष्ट्र और कर्नाटक के मुख्यमंत्रियों व राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) प्रमुख शरद पवार को मुलाकात करनी चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि दोनों राज्यों को उच्चतम न्यायालय के फैसले को स्वीकार करना चाहिए, जहां इस मामले की सुनवाई कई सालों से चल रही है। 

इसे भी पढ़ें: पूर्व भाजपा नेता यशवंत सिन्हा ने कहा- दिवालिया होने की कगार पर केंद्र सरकार

महाराष्ट्र का दावा है कि बेलगावी तत्कालीन बंबई रियासत का हिस्सा था लेकिन भाषायी आधार पर फिलहाल कर्नाटक का एक जिला है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने पिछले महीने कर्नाटक के साथ सीमा विवाद से जुड़े मामले में तेजी लाने के लिये सरकार की तरफ से किये जा रहे प्रयासों पर नजर रखने के उद्देश्य से मंत्री छगन भुजबल और एकनाथ शिंदे को समन्वयक नियुक्त किया था। 

इसे भी पढ़ें: पीएम मोदी हैं भारतीय संस्कृति और परंपरा के ध्वजवाहक : अमित शाह

बेलगावी में रविवार को संवाददाताओं से बात करते हुए राउत ने कहा, “बेलगावी और आसपास के इलाकों (कर्नाटक में) के मराठी भाषी लोगों की मांग के समाधान के लिये तीनों नेताओं को यहां मिलने की जरूरत है।” उन्होंने यह भी कहा कि उच्चतम न्यायालय में बीते 24 सालों से इस मामले की सुनवाई हो रही है और दोनों राज्यों को उच्चतम न्यायालय के फैसले को स्वीकार करना चाहिए। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...