उत्तराखंड के सीएम पुष्कर धामी ने राम मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास से की मुलाकात

उत्तराखंड के सीएम पुष्कर धामी ने राम मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास से की मुलाकात

अयोध्या में राम मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास से मुलाकात कर उत्तराखंड के सीएम पुष्कर धामी ने कहा, धर्म और समाज के प्रति महंत नृत्य गोपाल दास का बड़ा योगदान है।

अयोध्या। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री बनने के बाद दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे पुष्कर धामी ने जहां पहले दिन राम जन्मभूमि हनुमानगढ़ी सहित अन्य धार्मिक कार्यक्रमों में शामिल हुए। तो वही दूसरे दिन श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष गोपाल दास से मुलाकात कर उनके स्वास्थ्य की भी जानकारी ली। जिसके बाद शरीर के दूसरे छोर स्थित गोंडा जनपद के महेशपुर गांव में दिल्ली सेवा ट्रस्ट द्वारा आयोजित भूमि पूजन के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए रवाना हुए।

इसे भी पढ़ें: उत्तराखंड के सीएम बनकर अयोध्या पहुंचे पुष्कर धामी, श्री रामलला से मांगा 2022 का आशीर्वाद

राम मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष नृत्य गोपाल दास पिछले कई महीनों से अस्वस्थ चल रहे हैं। जिसको लेकर अभी पूर्व में नृत्य गोपाल दास का स्वास्थ्य बिगड़ने के बाद लखनऊ के मेदांता में भर्ती कराया गया था। जहां उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने भी मुलाकात कर स्वास्थ्य की कामना की थी। वहीं 3 दिन तक चले इलाज के बाद उन्हें अयोध्या आवास मणिराम दास छावनी पर ले आया गया। जहां उनका डॉक्टरों के पैनल लगातार स्वास्थ्य परीक्षण कर रहा है। इस दौरान दो दिवसीय दौरे पर अयोध्या पहुंचे उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर धामी को भी मिली जानकारी के बाद महंत नृत्य गोपालदास से मुलाकात के लिए मणिराम दास छावनी पहुंचे। इस दौरान उत्तराधिकारी महंत कमल नयन दास हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं ने भी मुलाकात कर उनका शॉल ओढ़ाकर स्वागत किया।

इसे भी पढ़ें: श्री रामनगरी में रावण का हुआ दहन, चारों तरफ गूंजे जय श्रीराम के नारे

मणिराम दास छावनी पहुंचे उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने जानकारी दी कि महंत नृत्य गोपाल दास धर्म और समाज के प्रति बड़ा योगदान रहा है। आज उनके स्वास्थ्य की जानकारी लेने के लिए आए हुए थे। वही कल होने वाले किसान आंदोलन को लेकर बताया कि हम भी किसान परिवार से हैं। और सब कुछ सही होने की बात कहते हुए बोलने से इंकार कर दिया।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।