उत्तराखंड के सीएम बनकर अयोध्या पहुंचे पुष्कर धामी, श्री रामलला से मांगा 2022 का आशीर्वाद

Pushkar Dhami reached Ayodhya as CM of Uttarakhand
सत्य प्रकाश । Oct 16, 2021 10:26PM
दिल्ली सेवा ट्रस्ट के द्वारा आयोजित शिलान्यास कार्यक्रम में शामिल होने अयोध्या पहुंचें उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर धामी का दावा 2022 में पूर्ण बहुमत की सरकार होगी।

अयोध्या। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार अयोध्या पहुंचे पुष्कर धामी ने भगवान श्री रामलला व हनुमान गढी मंदिर में दर्शन पूजन किया। वही अयोध्या के सरयू तट पर माँ सरयू की आरती भी उतारी। दरसल अयोध्या गोंडा सीमा क्षेत्र स्थित दिल्ली सेवा ट्रस्ट के द्वारा धर्मशाला के शिलान्यास कार्यक्रम में शामिल होने अयोध्या पहुंचे थे। इस दौरान श्री राम की शोभा यात्रा में शामिल हुए।

इसे भी पढ़ें: श्री रामनगरी में रावण का हुआ दहन, चारों तरफ गूंजे जय श्रीराम के नारे

अयोध्या पहुंचे उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि आज मैं भगवान श्री रामलला का आशीर्वाद लेने आया हूं मैं 3 जुलाई से उत्तराखंड में मुख्यमंत्री के रूप में कार्य करना प्रारंभ किया है क्योंकि भगवान राम हमारे आदर्श हैं हमारे कण-कण में विराजमान है और हमारे हर सांस के साथ भगवान राम का नाम लेते हैं उनका जो शासन था वह हमारे लिए एक आदर्श रहा है और उनके आशीर्वाद से विकास के मॉडल को आम जनता तक पहुंचा पा रहे हैं इसलिए आज उनका आशीर्वाद लेने के लिए आज अयोध्या की धरती पर आया हूं। साथ ही दिल्ली सेवा ट्रस्ट के द्वारा एक भव्य धर्मशाला का शिलान्यास है। उस कार्यक्रम में भी भाग लूंगा। मैं बचपन से अयोध्या आता रहा हूं तो मैं सोचता था कि भगवान कब तक टेंट के नीचे रहेंगे और आज मैं ऐसे समय आ रहा हूं जब भगवान श्री राम के भव्य मंदिर का निर्माण हो रहा है हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में यह कार्य भी हो रहा है सपने को बचपन से देखा था वह आज पूरा किया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें: पांचव दीपोत्सव मनाए जाने के लिए राम की पैड़ी पर हुआ भूमि पूजन

भगवान केदारनाथ जी उत्तराखंड में है और भगवान राम अयोध्या में है दोनों साथ-साथ सकते हैं और दोनों ने एक जैसा है और उत्तराखंड के कण-कण में भगवान राम विराजमान हैं इसलिए उत्तराखंड के लोग राष्ट्रभक्त भी हैं और राम भक्त भी हैं पिछले अयोध्या उनके लिए श्रद्धा का केंद्र रहा है। राजनीति कभी भी धर्म से अलग नहीं रही है राजनीति और धर्म हमेशा एक दूसरे के पूरक हैं हम लोग जिस विचारधारा में बचपन से काम करते रहे हैं और बचपन का सपना देखा था वह सपना आज हमारा साकार हो गया है। वही किसान आंदोलन को लेकर कहा कि मैं खुद भी एक शहीद और एक किसान परिवार से हूं। हम लोग और सरकार हमेशा किसानों को लेकर कार्य कर रही है। और हमारी प्रधानमंत्री लगातार किसानों के सम्मान के लिए किसान निधि किसानों की आय दुगनी कैसे हो इन सभी पर कार्य कर रहे हैं और हमारे यहां की सारे किसान यह बात को समझते हैं। वहीं 2022 के चुनाव को लेकर बताया कि अभी हमारे यहां पांच सांसद और जो राज्यसभा सांसद हैं। और इस बार हम लोगों ने नारा दिया है कि अबकी बार 60 पार और पूर्ण बहुमत से सरकार बनाएंगे।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़