हनुमान चालीसा पढ़ने 'मातोश्री' जाने के फैसले पर नवनीत राणा का यूटर्न, बोलीं- CM ठाकरे महाराष्ट्र में पैदा कर रहे बंगाल जैसी स्थिति

हनुमान चालीसा पढ़ने 'मातोश्री' जाने के फैसले पर नवनीत राणा का यूटर्न, बोलीं- CM ठाकरे महाराष्ट्र में पैदा कर रहे बंगाल जैसी स्थिति
प्रतिरूप फोटो
ANI Image

अमरावती सांसद नवनीत राणा ने कहा कि मुझे लगता है कि मेरा उद्देश्य स्पष्ट तरीके से पूरा हो गया। हम मातोश्री तक नहीं पहुंच पाए परन्तु जो हनुमान चालीसा हम करने वाले थे, वो कई भक्त वहां मातोश्री के सामने हनुमान चालीसा पढ़ रहे हैं। कहीं न कहीं ये सिद्ध होता है कि हमारी आवाज़ वहां तक पहुंची है।

मुंबई। महाराष्ट्र में हनुमान चालीसा और लाउडस्पीकर को लेकर जमकर राजनीति हो रही है। इसी बीच अमरावती सांसद नवनीत राणा ने कहा कि हम मातोश्री नहीं पहुंच पाए लेकिन कई भक्त वहां पर हनुमान चालीसा पढ़ रहे हैं। दरअसल, नवनीत राणा और उनके विधायक पति रवि राणा ने मातोश्री के बाहर हुनमान चालीसा पढ़ने का ऐलान किया था। जिसको लेकर शिवसैनिक उनके घर के नीचे एकत्रित हो गए। 

इसे भी पढ़ें: मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा के पाठ पर बोले संजय राउत, राष्ट्रपति शासन लगाने की धमकी मत देना 

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, अमरावती सांसद नवनीत राणा ने कहा कि मुझे लगता है कि मेरा उद्देश्य स्पष्ट तरीके से पूरा हो गया। हम मातोश्री तक नहीं पहुंच पाए परन्तु जो हनुमान चालीसा हम करने वाले थे, वो कई भक्त वहां मातोश्री के सामने हनुमान चालीसा पढ़ रहे हैं। कहीं न कहीं ये सिद्ध होता है कि हमारी आवाज़ वहां तक पहुंची है।

उन्होंने कहा कि शिवसेना गुंडों की पार्टी बन गई है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे केवल लोगों के खिलाफ अपराध दर्ज करना और उन्हें सलाखों के पीछे डालना जानते हैं। वह महाराष्ट्र में बंगाल जैसी स्थिति पैदा कर रहे हैं। 

पुलिस ने शिवसैनिकों को रोका

अमरावती सांसद नवनीत राणा ने कहा था कि वे आज सुबह 9 बजे मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के मुंबई स्थित घर 'मातोश्री' के सामने 'हनुमान चालीसा' का पाठ करेंगी। जिसके बाद सैकड़ों शिवसैनिक नवनीत राणा के घर के नीचे नारे लगाते हुए एकत्रित हो गए। इतना ही नहीं कुछ शिवसैनिकों ने तो बैरिकेड्स को तोड़ते हुए उनकी इमारत में घुसने का प्रयास किया। हालांकि पुलिस ने उन्हें रोक दिया।

रिपोर्ट्स के मुताबिक राणा परिवार ने मुख्यमंत्री पर आरोप लगाते हुए कहा कि उद्धव ठाकरे ने शिवसैनिकों को हमें परेशान करने का आदेश दिया है। जबकि नवनीत राणा के पति ने कहा कि उद्धव ठाकरे केवल राजनीतिक लाभ चाहते हैं। आपको बता दें कि नवनीत राणा के हनुमान चालीसा का पाठ करने के ऐलान को लेकर मातोश्री के बाहर सुरक्षा बढ़ा दी गई थी। इसके अतिरिक्त वहां पर शिवसैनिक और पार्टी नेता भी मौजूद थे। 

इसे भी पढ़ें: महाराष्ट्र में हनुमान चालीसा को लेकर हाई लेवल पॉलिटिक्स, सांसद नवनीत राणा के घर के बाहर शिवसैनिकों का प्रदर्शन 

शिवसेना सांसद अनिल देसाई ने कहा कि मातोश्री शिवसैनिकों का मंदिर है और हिंदुत्व शिवसेना के खून में है, कोई हमें हिंदुत्व न सिखाए। उन्होंने बताया कि मौके पर तैनात पुलिसकर्मियों ने स्थिति को नियंत्रित कर लिया और पार्टी कार्यकर्ताओं को ऐसी किसी भी चीज में शामिल होने से रोका जिससे कानून-व्यवस्था की स्थिति में व्यवधान न हो। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।