मोदी सरकार को हराने के लिए कांग्रेस ने नक्सलवादियों से हाथ मिलाया: भाजपा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 30, 2018   20:08
मोदी सरकार को हराने के लिए कांग्रेस ने नक्सलवादियों से हाथ मिलाया: भाजपा

राव के अनुसार,‘ उस घोषणा पत्र में कांग्रेस ने जो बातें कही वह देश के संविधान को चुनौती देने वाली हैं और यह देश की सम्पूर्ण व्यवस्था पर आने वाले दिनों में सवाल खडे़ करने वाला है।’

जयपुर। भाजपा ने आरोप लगाया कि कांग्रेस पार्टी ने केंद्र की मोदी सरकार और उनके नेतृत्व को "हराने व गिराने" के लिए नक्सलवादियों के साथ हाथ मिलाया है। पार्टी ने रॉबर्ट वाड्रा द्वारा राज्य में जमीनों की खरीद-फरोख्त का घोटाला करने का आरोप लगाया। 

भाजपा की ओर से शुक्रवार को जारी बयान में राष्ट्रीय महासचिव पी मुरलीधर राव ने कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने कहा,‘कांग्रेस भ्रष्टाचारी पार्टी है। राज्य में कांग्रेस की गहलोत सरकार के समय रॉबर्ट वाड्रा ने जमीनों की खरीद-फरोख्त का घोटाला किया।’ राव ने आरोप लगाया कि ‘गहलोत ने वाड्रा को बहुत सस्ते दामों पर जमीने उपलब्ध करवायी।’ उल्लेखनीय है कि कांग्रेस ने इससे पहले ही इस मामले में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) व आयकर विभाग का इस्तेमाल पार्टी के 'डर्टी ट्रिक्स डिपार्टमेंट' के रूप में करने का आरोप दिन में लगाया था।

यह भी पढ़ें: प्रवर्तन निदेशालय की बड़ी कार्रवाई, बीकानेर भूमि घोटाला मामले में रॉबर्ट वाड्रा तलब

राव ने कहा कि मोदी की सरकार और उनके नेतृत्व को हराने और गिराने की दृष्टि से कांग्रेस पार्टी ने नक्सवलवादियो के साथ हाथ मिलाया है।’ उन्होंने कहा कि दो दिन पहले कांग्रेस ने तेलंगाना में अपना जो घोषणापत्र जारी किया वह तेलंगाना और तेलंगाना के मुद्दों तक सीमित नहीं है। राव के अनुसार,‘ उस घोषणा पत्र में कांग्रेस ने जो बातें कही वह देश के संविधान को चुनौती देने वाली हैं और यह देश की सम्पूर्ण व्यवस्था पर आने वाले दिनों में सवाल खडे़ करने वाला है।’ 

यह भी पढ़ें: मोदी ने दिलाया भरोसा, जलवायु परिवर्तन वार्ता में जिम्मेदार भूमिका निभाएगा भारत

उन्होंने कहा कि घोषणा पत्र में इसाइयों को अनुसूचित जाति का दर्जा देने की घोषणा की गई है। उन्होंने कहा कि जब इसको स्वीकार करेंगे तो यह सम्पूर्ण देश के लिये होगा क्योंकि अनुसूचित जाति आरक्षण केवल राज्य केन्द्रित नहीं है इसके लिये संसद में संशोधन करना होगा। उन्होंने कहा कि इसका मतलब है कि कांग्रेस पूरे देश में ईसाइयों को एससी का दर्जा देना चाहती है और वह एससी के आरक्षण पर कैंची मारना चाहती है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।