प्रवर्तन निदेशालय की बड़ी कार्रवाई, बीकानेर भूमि घोटाला मामले में रॉबर्ट वाड्रा तलब

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 30, 2018   18:37
प्रवर्तन निदेशालय की बड़ी कार्रवाई, बीकानेर भूमि घोटाला मामले में रॉबर्ट वाड्रा तलब

अधिकारियों ने शुक्रवार को बताया कि वाड्रा को अगले सप्ताह मामले के जांच अधिकारी के सामने पेश होने को कहा गया है। धन शोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) के तहत बयान दर्ज कराने के लिए दूसरी बार उनको समन जारी हुआ है।

 नयी दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने राजस्थान के सीमावर्ती शहर बीकानेर में भूमि घोटाले के सिलसिले में धन शोधन की जांच को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बहनोई रॉबर्ट वाड्रा को तलब किया है। अधिकारियों ने शुक्रवार को बताया कि वाड्रा को अगले सप्ताह मामले के जांच अधिकारी के सामने पेश होने को कहा गया है। धन शोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) के तहत बयान दर्ज कराने के लिए दूसरी बार उनको समन जारी हुआ है। 

अधिकारियों ने बताया कि नवंबर में पूर्व में पहला समन जारी होने पर जांच अधिकारी के सामने वड्रा पेश नहीं हुए थे जिसके बाद उन्हें दूसरा समन जारी हुआ है। बीकानेर के स्थानीय तहसीलदार ने इलाके में जमीन आवंटन में कथित फर्जीवाड़े की शिकायत की थी। इसके बाद राजस्थान पुलिस द्वारा दर्ज कुछ प्राथमिकी और आरोपपत्रों का संज्ञान लेते हुए केंद्रीय जांच एजेंसी ने 2015 में हुए सौदे के संबंध में एक आपराधिक मामला दर्ज किया। 

यह भी पढ़ें: किसानों की शक्ति ने देश को बनाया, एक व्यक्ति हिन्दुस्तान नहीं चला सकता: राहुल

समझा जाता है कि प्रवर्तन निदेशालय इलाके में जमीन खरीदने वाली कंपनी-स्काईलाइट हॉस्पिटेलिटी प्राइवेट लिमिटेड के संचालन के बारे में वाड्रा से पूछताछ करना चाहती है। यह कंपनी कथित तौर पर उनसे जुड़ी है। ईडी वाड्रा का सामना उन लोगों से भी कराना चाहती है जिन्होंने इसे उनसे जुड़ा बताया है। एजेंसी मामले में एक बड़ी स्टील कंपनी की भूमिका की भी जांच कर रही है । संदेह है कि स्टील कंपनी ने उस कंपनी को कर्ज दिया जिसने बहुत महंगी कीमत पर वाड्रा से जुड़ी कंपनियों से जमीनें खरीदी। 

यह भी पढ़ें: राजनाथ सिंह की हुंकार, कहा- किसी में भारत की तरफ आंख उठाने की हिम्मत नहीं

एजेंसी ने पूर्व में वाड्रा से जुड़े महेश नागर तथा कुछ अन्य के परिसरों पर छापा मारा था। पिछले साल दिसंबर में ईडी ने नागर के करीबी सहयोगी अशोक कुमार तथा एक अन्य व्यक्ति जयप्रकाश भार्गव को गिरफ्तार किया था। बताया जाता है कि नागर का स्काईलाइट हॉस्पिटेलिटी प्राइवेट लिमिटेड से जुड़ाव है और इस कंपनी के तार वाड्रा से जुड़े हुए हैं। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।