कांग्रेस में है दोहरा मापदंड, राज्यवर्धन राठौर बोले- राजस्थान में पिछले 1 महीने में 4 बार इंटरनेट बंद किया गया

कांग्रेस में है दोहरा मापदंड, राज्यवर्धन राठौर बोले- राजस्थान में पिछले 1 महीने में 4 बार इंटरनेट बंद किया गया

राठौर ने कहा कि कांग्रेस बार-बार जम्मू कश्मीर पर कहती है कि वहां अभिव्यक्ति की आजादी को रोका जा रहा है, लेकिन क्या राजस्थान में आतंक की घटनाएं हो रही हैं कि पिछले 1 महीने में 4 बार इंटरनेट बंद किया गया है।

कांग्रेस और भाजपा के बीच जबरदस्त वार पलटवार चल रहा है। हाल में ही जम्मू कश्मीर को लेकर राहुल गांधी ने सरकार पर बड़े आरोप लगाए थे और इंटरनेट व टेलीफोन बंद किए जाने को लेकर भी सवाल उठाए थे। इसी को लेकर अब भाजपा की ओर से पलटवार किया गया है। भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता और पूर्व केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर ने कांग्रेस और राहुल गांधी पर जबरदस्त पलटवार किया है। राज्यवर्धन सिंह राठौर ने कहा कि राहुल गांधी ने 19 दिसंबर 2019 को ट्वीटर पर लिखा था कि ''इस सरकार को कोई अधिकार नहीं कि कॉलेज, इंटरनेट और टेलीफॉन बंद कर दे। इसे मैं मानता हूं कि ये भारत की आत्मा की बेइज्जती है।'' वहीं राजस्थान में पिछले 1 महीने में 4 बार इंटरनेट बंद किया गया है।

राठौर ने कहा कि कांग्रेस बार-बार जम्मू कश्मीर पर कहती है कि वहां अभिव्यक्ति की आजादी को रोका जा रहा है, लेकिन क्या राजस्थान में आतंक की घटनाएं हो रही हैं कि पिछले 1 महीने में 4 बार इंटरनेट बंद किया गया है। जितने दोहरे मापदंड कांग्रेस में हैं, उतने कहीं नहीं हैं। कांग्रेस पर हमला जारी रखते हुए उन्होंने कहा कि पिछले 10 वर्षों में, यूपी में केवल 29, हरियाणा में 17, पश्चिम बंगाल में 13, गुजरात में 10 और बिहार और महाराष्ट्र में 11 इंटरनेट शटडाउन हुए हैं। हालांकि, राजस्थान में इसी अवधि में 78 बार ऐसा हुआ है। उन्होंने कहा कि राजस्थान सरकार का कहना है कि वे टेस्ट पेपर के लीकेज को रोकने और नकल रोकने के लिए इंटरनेट बंद कर रहे हैं। हालांकि, पिछले 1.5 वर्षों में हुई पिछली 5 परीक्षाओं में बड़े पैमाने पर लीकेज और धोखाधड़ी हुई है।

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस को वोट देने का मतलब, राजस्थान में बढ़ते अपराधों को लाइसेंस देना है: अरुण सिंह

मख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच जारी तनाव पर तंज कसते हुए राठौर ने कहा कि राजस्थान के कुछ मंत्री जिन्हें अलग-अलग जिम्मेदारियां दी गई हैं, वो कई दिनों से अपने दफ्तर में नहीं आ रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्री स्वास्थ्य संबंधी अहम बैठकों में हिस्सा नहीं ले रहे। इनकी आंतरिक खींचतान से राजस्थान की जनता को बहुत परेशानियां उठानी पढ़ रही है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...