कांग्रेस ने रास में करगिल युद्ध के नायक की गिरफ्तारी का मुद्दा उठाया, कहा- पूरे घटनाक्रम की हो जांच

congress-raised-the-issue-of-the-arrest-of-the-kargil-war-army-staff-said-the-investigation-of-the-whole-incident
सिंह ने कहा ‘‘इस बात की जांच की जानी चाहिए कि जब सनाउल्ला ने अपने दस्तावेज पेश किए तो उन पर तत्काल कार्रवाई क्यों नहीं की गई ?’’ उन्होंने इस पूरे घटनाक्रम की जांच करने तथा इसके लिए जवाबदेही तय करने की मांग भी की। विभिन्न दलों के सदस्यों ने इस मुद्दे से स्वयं को संबद्ध किया।

नयी दिल्ली। राज्यसभा में कांग्रेस के एक सदस्य ने करगिल युद्ध के नायक और राष्ट्रपति पदक से सम्मानित मोहम्मद सनाउल्ला को पिछले दिनों विदेशी नागरिक घोषित किए जाने के बाद गिरफ्तार कर हिरासत केंद्र में भेजे जाने का मुद्दा उठाते हुए शुक्रवार को मांग की कि इस पूरे घटनाक्रम की जांच की जानी चाहिए और जवाबदेही भी तय की जानी चाहिए। उच्च सदन में शून्यकाल के दौरान यह मुद्दा उठाते हुए कांग्रेस के संजय सिंह ने कहा ‘‘मोहम्मद सनाउल्ला ने 30 साल तक देश की सेवा की। देश की सेना में अपनी सेवाएं देने वाले सनाउल्ला ने न केवल करगिल युद्ध में दुश्मन के दांत खट्टे किए थे बल्कि उनको राष्ट्रपति पदक से भी सम्मानित किया गया है। ऐसे व्यक्ति को विदेशी नागरिक घोषित किया गया और गुवाहाटी पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर गोलपाड़ा हिरासत केंद्र भेज दिया। उनके खिलाफ झूठा मुकदमा दर्ज किया गया। ’’

इसे भी पढ़ें: भाजपा सांसद ने छत्तीसगढ़ की सरकार पर लगाया आरोप, नायडू ने कहा- मुद्दे के समाधान पर जोर दें

उन्होंने कहा ‘‘30 साल तक देश की सेवा करने वाले फौजी को अगर पुलिस की हिरासत में भेजा जा सकता है तो आम आदमी की क्या स्थिति होगी, यह कल्पना से परे है।’’ सिंह ने कहा ‘‘इस बात की जांच की जानी चाहिए कि जब सनाउल्ला ने अपने दस्तावेज पेश किए तो उन पर तत्काल कार्रवाई क्यों नहीं की गई ?’’ उन्होंने इस पूरे घटनाक्रम की जांच करने तथा इसके लिए जवाबदेही तय करने की मांग भी की। विभिन्न दलों के सदस्यों ने इस मुद्दे से स्वयं को संबद्ध किया।

 

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़