कांग्रेस ने 15 माह में मध्य प्रदेश को बर्बाद कर दियाः कुलस्ते

 Kulaste
दिनेश शुक्ल । Oct 29, 2020 10:46PM
कांग्रेस ने मध्य प्रदेश में किसानों से कर्जमाफी का वादा करके सरकार बना ली, लेकिन उनकी कर्जमाफी आज तक नहीं हुई। कांग्रेस ने सरकार में आते ही भाजपा सरकार में बनाई गई जन कल्याणकारी योजनाओं को ही बंद कर करके जनता को परेशान करने का काम किया है।

खण्डवा। लोकतंत्र में जनता ही भगवान होती है, लेकिन कमलनाथ ने प्रदेश की जनता के लिए कुछ नहीं किया, इन्होंने तो अपना घर ही भरा है। कांग्रेस ने 15 माह में मध्य प्रदेश को बर्बाद कर दिया। वल्लभ भवन को दलालों का अड्डा बना दिया था। कांग्रेस ने मध्य प्रदेश में किसानों से कर्जमाफी का वादा करके सरकार बना ली, लेकिन उनकी कर्जमाफी आज तक नहीं हुई। कांग्रेस ने सरकार में आते ही भाजपा सरकार में बनाई गई जन कल्याणकारी योजनाओं को ही बंद कर करके जनता को परेशान करने का काम किया है। यह बात केन्द्रीय मंत्री फग्गनसिंह कुलस्ते ने खण्डवा जिले के मांधाता के सुलगांव में सभा को सम्बोधित करते हुए कही। 

इसे भी पढ़ें: शिवराज सिंह चौहान बोले यह चुनाव बदला लेने का चुनाव, लोगों ने बरसाए छतों से फूल

कुलस्ते ने कहा कि केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसानों को सम्मान निधि 6 हजार रूपए देनी शुरू की तो उसमें 4 हजार रूपए प्रदेश सरकार ने भी दिए है। अब हर साल किसानों को सम्मान निधि 10 हजार रूपए मिलेगी। मध्य प्रदेश की जनता बीते 15 महीने में बहुत अच्छी तरह से समझ चुकी है कि विकास सिर्फ भाजपा की सरकार ही कर सकती है। कांग्रेस की सरकारों ने हमेशा से भ्रष्टाचार को बढ़ावा दिया है। जब इनकी सरकार केंद्र में थी तो न जाने कितने घोटाले सामने आते थे, लेकिन पिछले 6 वर्षों में एक भी घोटाला सामने नहीं आया। उन्होंने कहा कि केंद्र में भी नरेंद्र मोदी ने गरीबों, किसानों के कल्याण के लिए कई योजनाएं शुरू कीं। किसानों को सम्मान निधि देने का काम किया तो आदिवासियों के लिए भी योजनाएं संचालित कीं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एंव मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अनेको योजनाएं संचालित करके अंतिम छोर के व्यक्ति की चिंता की है।  इस अवसर पर पार्टी के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़