यूक्रेन में फंसे भारतीयों को लेकर केंद्र सरकार पर बरसे सुरजेवाला, पूछा- मुश्किल में मुंह मोड़ लेना मोदी मॉडल का समाधान है ?

यूक्रेन में फंसे भारतीयों को लेकर केंद्र सरकार पर बरसे सुरजेवाला, पूछा- मुश्किल में मुंह मोड़ लेना मोदी मॉडल का समाधान है ?
प्रतिरूप फोटो

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट किया कि 20,000 भारतीय युवा यूक्रेन में खतरे से जूझ रहे हैं। 2,000 युवा हरियाणवी हैं पर मोदी-खट्टर सरकारों द्वारा उन्हें वापस लाना तो दूर, मेरे पत्र दिनांक 17/2/2022 तक का जबाब देना भी ज़रूरी नहीं समझा। कीव में भारतीय दूतावास के बाहर खड़े हरियाणा के बच्चों को क्या कहेंगे मोदी-खट्टर जी?

नयी दिल्ली। यूक्रेन और रूस के बीच युद्ध छिड़ गया है। ऐसे में यूक्रेन में अफरा-तफरी का माहौल है और ज्यादा-से-ज्यादा लोग वहां से निकलने की कोशिश कर रहे हैं। हालांकि, यूक्रेन में हवाई क्षेत्र बंद है, रेल सेवा पर भी दबाव बढ़ गया है और सड़कों पर जाम लगा है। भारतीय भी यूक्रेन में फंसे हुए हैं। इसी बीच कांग्रेस ने केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा। कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने गुरुवार को कहा कि क्या मुश्किल में देश के लोगों से मुंह मोड़ लेना ही 'मोदी मॉडल' का समाधान है ? 

इसे भी पढ़ें: रूस-यूक्रेन युद्ध पर क्या होगी भारत की रणनीति ? चर्चा के लिए प्रधानमंत्री मोदी करेंगे बड़ी बैठक 

पत्र का नहीं मिला जवाब

सुरजेवाला ने ट्वीट किया कि 20,000 भारतीय युवा यूक्रेन में खतरे से जूझ रहे हैं। 2,000 युवा हरियाणवी हैं पर मोदी-खट्टर सरकारों द्वारा उन्हें वापस लाना तो दूर, मेरे पत्र दिनांक 17/2/2022 तक का जबाब देना भी ज़रूरी नहीं समझा। कीव में भारतीय दूतावास के बाहर खड़े हरियाणा के बच्चों को क्या कहेंगे मोदी-खट्टर जी?

उन्होंने आगे कहा कि कोरोना में उनके 'ऐलान' ने लोगों को ज़िंदगी बचाने के लिए हजारों किमी पैदल चलने को मजबूर कर दिया। अब खामोशी ने यूक्रेन में जिंदगी और मौत के बीच फंसे 20,000 भारतीय युवाओं को ख़तरे में डाल दिया है। क्या मुश्किल में देश के लोगों से मुँह मोड़ लेना ही 'मोदी मॉडल' का समाधान है ? 

इसे भी पढ़ें: यूक्रेन-रूस विवाद पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह का बड़ा बयान सामने आया, जानें क्या कहा? 

क्या बोले हरियाणा के मुख्यमंत्री ?

हरियावणी छात्रों को लेकर मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर का बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि अधिकतर विद्यार्थियों समेत हरियाणा से करीब 2000 लोग यूक्रेन में फंसे हैं और वह इस मुद्दे पर विदेश मंत्रालय के संपर्क में हैं। मुख्यमंत्री खट्टर ने कहा कि विदेश मंत्रालय पहले ही एक नियंत्रण कक्ष स्थापित कर चुका है और राज्य सरकार ने भी चंडीगढ़ में एक नियंत्रण कक्षा खोला है जहां हरियाणा के लोग व्हाट्सअप नंबर 92123-14595 पर संपर्क कर सकते हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।