भारत-चीन झड़प पर ‘चुप्पी’ को लेकर कांग्रेस ने येचुरी और विजयन पर साधा निशाना

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 24, 2020   10:05
भारत-चीन झड़प पर ‘चुप्पी’ को लेकर कांग्रेस ने येचुरी और विजयन पर साधा निशाना

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता चेन्नीतला ने विजयन को लिखे एक खुले पत्र में कहा कि चीनी हमला और भारतीय सैनिकों की शहादत पर पूरे देश में हमलावरों के खिलाफ ‘‘भारी आक्रोश’’ है। न्होंने कहा, ‘‘चूंकि माकपा केरल पर शासन कर रही है, आपकी पार्टी का दायित्व है कि वह भारत की एकता, संप्रभुता अखंडता को बनाए रखे।

तिरुवनंतपुरम। केरल विधानसभा में विपक्ष के नेता रमेश चेन्नीतला ने कहा कि लद्दाख में गलवान घाटी में चीनी घुसपैठ और 20 भारतीय सैनिकों की ‘‘नृशंस हत्या’’ पर माकपा महासचिव सीताराम येचुरी और मुख्यमंत्री पिनराई विजयन की ‘‘चुप्पी’’ ‘‘खेदजनक’’ है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता चेन्नीतला ने विजयन को लिखे एक खुले पत्र में कहा कि चीनी हमला और भारतीय सैनिकों की शहादत पर पूरे देश में हमलावरों के खिलाफ ‘‘भारी आक्रोश’’ है। उन्होंने कहा, ‘‘मैंने 20 भारतीय सैनिकों की शहादत पर आपका ट्वीट देखा था। हालांकि उसमें चीन के नापाक हरकत की कोई निंदा नहीं की गई थी।’’ उन्होंने कहा कि येचुरी के ट्वीट में भी चीन की आक्रामकता का कोई उल्लेख नहीं किया गया था। 

इसे भी पढ़ें: केरल में कोरोना संक्रमितों की संख्या 3500 के पार, मुख्यमंत्री ने कहा- स्थिति हो रही है गंभीर

उन्होंने कहा, ‘‘इसका क्या यह मतलब है कि आप और आपकी पार्टी भारत की भूमि के बारे में अपने विवादास्पद बयान को बदलने के लिए तैयार नहीं हैं, जिस पर 1962 में चीनियों द्वारा घुसपैठ की गई थी, क्योंकि उस जमीन को भारत अपना मानता है और चीन अपना मानता है, यह अत्यंत दुखद है।’’ चेन्नीतला ने दावा किया कि 2018 में अलप्पुझा में माकपा पार्टी सम्मेलन में पार्टी के केरल सचिव के. बालाकृष्णन ने कहा था कि भारत, जापान, आस्ट्रेलिया और अमेरिका मिलकर चीन पर चारों ओर से हमले कर रहे हैं। चेन्नीतला ने सवाल किया, ‘‘केरल के लोग यह जानना चाहते हैं कि क्या आपकी पार्टी अब भी उसी नीति पर कायम है?’’ उन्होंने कहा, ‘‘चूंकि माकपा केरल पर शासन कर रही है, आपकी पार्टी का दायित्व है कि वह भारत की एकता, संप्रभुता अखंडता को बनाए रखे। चीन की घुसपैठ पर आपका रुख सार्वजनिक करना आपका उत्तरदायित्व है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।