कोरोना वायरस: पश्चिम बंगाल में वरिष्ठ सरकारी चिकित्सक समेत दो लोगों की मौत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 26, 2020   14:49
कोरोना वायरस: पश्चिम बंगाल में वरिष्ठ सरकारी चिकित्सक समेत दो लोगों की मौत

कोरोना वायरस को फैलने से रोकने की जंग में उतरे एक वरिष्ठ सरकारी चिकित्सक और 34 वर्षीय एक व्यक्ति की संक्रमित होने के बाद रविवार को यहां एक अस्पताल में मौत हो गई। अस्पताल के सूत्रों ने यह जानकारी दी।

कोलकाता। कोरोना वायरस को फैलने से रोकने की जंग में उतरे एक वरिष्ठ सरकारी चिकित्सक और 34 वर्षीय एक व्यक्ति की संक्रमित होने के बाद रविवार को यहां एक अस्पताल में मौत हो गई। अस्पताल के सूत्रों ने यह जानकारी दी। स्वास्थ्य सेवाओं (उपकरण और स्टोर) के सहायक निदेशक के तौर पर सेवारत 60 वर्षीय चिकित्सक को शुरुआत में बेलियाघाटा संक्रामक रोग अस्पताल में भर्ती कराया गया था और उन्हें बाद में 18 अप्रैल को ‘साल्ट लेक’ निजी अस्पताल में भेजा गया, जहां उनका कोरोना वायरस संक्रमण के कारण निधन हो गया।

इसे भी पढ़ें: कर्मचारियों के भत्ते रोकने के फ़ैसले पर पुनर्विचार करे योगी सरकार : सपा

सूत्रों ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, ‘‘कोविड-19 से संक्रमित पाए जाने पर उन्हें बेलियाघाटा संक्रामक रोग अस्पताल ले जाया गया था और इसके बाद उन्हें साल्ट लेक निजी अस्पताल ले जाया गया। चिकित्सक श्वसन संबंधी समस्या और अन्य बीमारियों से पीड़ित थे। वह अस्पताल में भर्ती किए जाने के बाद से वेंटिलेटर पर थे। उनकी रविवार को मौत हो गई।’’ शहर के ‘गार्डन रीच’ इलाके में रहने वाले एक अन्य संक्रमित व्यक्ति की इसी अस्पताल में सुबह करीब सात बजे मौत हो गई। उन्होंने कहा, ‘‘34 वर्षीय व्यक्ति को 23 अप्रैल को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उसे भी सांस लेने में समस्या थी और उसे वेंटिलेटर पर रखा गया था। उसकी रविवार सुबह मौत हो गई।’’

इसे भी पढ़ें: मन की बात में पीएम मोदी ने कहा- योग के बाद दुनिया ने अब आयुर्वेद को भी अपनाया

इन दो लोगों की मौत के मामले में अधिक जानकारी के लिए वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों से संपर्क करने की कई कोशिशों के बावजूद उनका कोई जवाब नहीं मिल सका। हालांकि एक अधिकारी ने अपना नाम गोपनीय रखने की शर्त पर बताया कि मौत की वजह की अभी जांच की जा रही है। राज्य स्वास्थ्य विभाग के अनुसार पश्चिम बंगाल में कोविड-19 संक्रमण के अब तक 154 मामले सामने आए हैं जिनमें से 18 लोगों की मौत हो चुकी है। राज्य सरकार ने यह पता लगाने के लिए एक समिति गठित की है कि मरीज की मौत कोरोना वायरस के कारण हुई है या पहले ही मौजूद किसी अन्य बीमारी के कारण। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार राज्य में कोविड-19 के 571 मरीज हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।