कोविड-19 मुद्दे पर बोले निगम आयुक्त, शुरुआत में ही पहचान से नागपुर को मिली मदद

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 25, 2020   16:21
कोविड-19 मुद्दे पर बोले निगम आयुक्त, शुरुआत में ही पहचान से नागपुर को मिली मदद

निगम आयुक्त तुकाराम मुंधे ने बताया कि इस महामारी को रोकने के लिए करीब 15-20 तंत्र काम कर रहे हैं। मरीजों के ठीक होने की 75 प्रतिशत दर और महज 2 प्रतिशत की मृत्युदर देश में सबसे अच्छे आंकड़ों में से एक है।

नागपुर। नागपुर के निगम आयुक्त तुकाराम मुंधे ने सोमवार को कहा कि नागपुर में कोरोना वायरस से संक्रमित हुए 75 प्रतिशत से ज्यादा लोगों को ठीक होने के बाद छुट्टी मिल चुकी है जबकि महज 2 प्रतिशत ही मृत्यु दर है जो महाराष्ट्र और देश में सबसे कम है। उन्होंने कहा कि शुरुआत में ही पहचान, संपर्क में आए लोगों का पता लगाना, पृथक-वास, इलाज और व्यापक संस्थागत पृथक-वास जैसे कदमों ने यह सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई कि विदर्भ के इस सबसे बड़े शहर में यह बीमारी नियंत्रण में रहे। सोमवार तक नागपुर निगम क्षेत्र में 406 मामले सामने आए और इनमें से 313 को ठीक होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई जबकि 8 लोगों की संक्रमण से मौत हो गई। 

इसे भी पढ़ें: ट्रेन मार्ग परिवर्तन पर संजय राउत ने पीयूष गोयल पर तंज कसा, NCP ने दिखाया नरम रुख 

उन्होंने बताया, “इस महामारी को रोकने के लिए करीब 15-20 तंत्र काम कर रहे हैं। मरीजों के ठीक होने की 75 प्रतिशत दर और महज 2 प्रतिशत की मृत्युदर देश में सबसे अच्छे आंकड़ों में से एक है। संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए लोगों की पहचान के लिए हमारा तंत्र बेहद मजबूत है। किसी व्यक्ति के संक्रमित पाए जाने के 15-20 मिनट के अंदर हम उसके संपर्कों का पता लगाना शुरू कर देते हैं और तीन-चार घंटों में इस प्रक्रिया को पूरा कर लेते हैं। संपर्क में आए लोगों को 14 दिन के पृथक-वास में भेज दिया जाता है।” 

इसे भी पढ़ें: HC का महाराष्ट्र सरकार को निर्देश, लॉकडाउन के बीच आदिवासियों तक पहुंचे आवश्यक सेवाएं 

उन्होंने कहा, “शुरुआत में ही पहचान हो जाने से लक्षण नहीं आने वाले मरीजों को लक्षण वाले मरीजों में बदलने से रोका जा सकता है। आमतौर पर लक्षण सातवें दिन से नजर आना शुरू होते हैं और अगर वे पहले से ही तब तक इलाज करा रहे होंगे तो मृत्यु की आशंका कम रहती है। संक्रमण की श्रृंखला भी टूटती है।” मुंधे ने कहा कि केंद्र के त्वरित प्रतिक्रिया दल ने भी कोविड-19 के खिलाफ नागपुर के प्रयासों की सराहना की थी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।