रक्षा मंत्रालय ने पाक को चेताया, कहा- हमारे सैन्य प्रतिष्ठानों को ना बनाएं निशाना

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 28, 2019   16:06
रक्षा मंत्रालय ने पाक को चेताया, कहा- हमारे सैन्य प्रतिष्ठानों को ना बनाएं निशाना

सूत्रों ने यह भी कहा कि जमीन पर तैनात बलों को अभी किसी कार्रवाई के लिए भेजा नहीं गया है और कुछ बल अल्पावधि सूचना पर कार्रवाई के लिए जाने को तैयार हैं।

नयी दिल्ली। रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को कहा कि पाकिस्तान का यह दावा झूठा है कि उसकी वायुसेना ने बुधवार को हवाई घुसपैठ के दौरान भारतीय सैन्य प्रतिष्ठानों को निशाना नहीं बनाया था। उन्होंने बताया कि पाकिस्तानी विमानों ने नौशेरा और राजौरी सेक्टर में कई सैन्य प्रतिष्ठानों को स्पष्ट रूप से निशाना बनाया लेकिन भारतीय वायुसेना के लड़ाकू गश्ती दल ने उनकी कोशिशों को नाकाम कर दिया। सूत्रों ने बताया कि सशस्त्र बल उच्च सतर्कता बरत रहे हैं।

उन्होंने कहा कि सुरक्षा बलों की छुट्टियां रद्द नहीं की गई हैं , लेकिन महत्वपूर्ण पद संभाल रहे कर्मियों की छुट्टियों में कटौती की गई है।  सूत्रों ने यह भी कहा कि जमीन पर तैनात बलों को अभी किसी कार्रवाई के लिए भेजा नहीं गया है और कुछ बल अल्पावधि सूचना पर कार्रवाई के लिए जाने को तैयार हैं। भारत और पाकिस्तान के बीच एक हवाई संघर्ष के बाद पाकिस्तान ने बुधवार को भारतीय वायुसेना के एक पायलट को हिरासत में ले लिया था। दोनों देशों का कहना है कि उन्होंने एक दूसरे के लड़ाकू विमानों को मार गिराया है।  भारत और पाकिस्तान के बीच हवाई संघर्ष पाकिस्तान की ओर से भारत के सैन्य प्रतिष्ठानों को निशाना बनाने की असफल कोशिश के बाद शुरू हुआ। इस घटनाक्रम से दोनों देशों के बीच युद्ध की आशंका पैदा हो गई है। 

इसे भी पढ़ें: मोदी नहीं होंगे RSS की तरफ से PM पद के उम्मीदवार, गडकरी के नाम पर हो रही है चर्चा

भारत और पाकिस्तान के बीच 1971 में हुई जंग के बाद यह पहला मौका है जब संघर्ष का स्वरूप इस स्तर तक पहुंच गया है जिसके बाद दुनिया भर के नेताओं ने दोनों पड़ोसी देशों को “अत्यधिक संयम” बरतने की अपील की।  भारत ने कहा कि नियंत्रण रेखा से लगे इलाकों में दोनों देशों की वायुसेनाओं के बीच हुई भीषण झड़प में उसने पाकिस्तान के एफ-16 लड़ाकू विमान को मार गिराया जबकि इस दौरान उसका एक मिग 21 विमान गिर गया। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।