सीएम केजरीवाल ने फहराया तिरंगा, बोले- कोरोना काल में दिल्लीवासियों ने और सरकार ने मिलकर किया अभूतपूर्व कार्य

सीएम केजरीवाल ने फहराया तिरंगा, बोले- कोरोना काल में दिल्लीवासियों ने और सरकार ने मिलकर किया अभूतपूर्व कार्य

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में एक दिन में इतने सारे केस सामने आने के कई सारे कारण हैं। इसके विषय में मैंने पहले भी आप लोगों को बताया था। लेकिन अच्छी बात यह रही कि जिस तरीके से दिल्ली के लोगों ने और सरकार ने मिलकर इसका सामना किया और सफलतापूर्वक सामना किया।

नयी दिल्ली। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली सचिवालय में आयोजित गणतंत्र दिवस समारोह में तिरंगा फहराया। इसके बाद उन्होंने गणतंत्र दिवस के अवसर पर दिल्लीवासियों समेत पूरे देश के लोगों को बधाईयां दीं। उन्होंने कहा कि पिछले एक साल से पूरा देश कोरोना महामारी से जूझ रहा है। यही वजह है कि हम स्वाधीनता दिवस और फिर गणतंत्र दिवस यहां पर मना रहे हैं। इसी के साथ उन्होंने उम्मीद जताई कि कोरोना महामारी से छुटकारा मिलेगा। उन्होंने कहा कि पिछला एक साल सभी के लिए मुश्किलभरा रहा। दिल्लीवासियों के लिए तो खासकर बहुत मुश्किलभरा दौर था क्योंकि दिल्ली ने कोरोना महामारी का बहुत प्रचंड रूप देखा। 11 नवंबर को दिल्ली में एक दिन में 8,500 केस आए। कहां जाता है कि विश्व में किसी भी शहर में यह सबसे ज्यादा केस थे। 

इसे भी पढ़ें: यात्रीगण कृपया ध्यान दें! गणतंत्र दिवस पर आंशिक रूप से बाधित रहेंगी दिल्ली मेट्रो सेवाएं 

उन्होंने कहा कि दिल्ली में एक दिन में इतने सारे केस सामने आने के कई सारे कारण हैं। इसके विषय में मैंने पहले भी आप लोगों को बताया था। लेकिन अच्छी बात यह रही कि जिस तरीके से दिल्ली के लोगों ने और सरकार ने मिलकर इसका सामना किया और सफलतापूर्वक सामना किया। अमेरिका के न्यूयॉर्क में पहले हफ्ते 6300 केस आए। हमारे यहां से कम थे। लेकिन आपने देखा होगा सोशल मीडिया में की किस तरह से स्वास्थ्य सेक्टर ढह गया। अस्पतालों में जगह नहीं थी और केवल न्यूयॉर्क नहीं दुनिका के विकसित देशों के शहरों को उठा कर देख लीजिए वहां का स्वास्थ्य क्षेत्र ढह गया।

उन्होंने आगे बताया कि दिल्ली में 11 नवंबर को जब सबसे ज्यादा केस आए तब भी कोरोना के सात हजार बिस्तर खाली थे। हमारे किसी भी अस्पताल के बाहर सड़कों में मरीज नहीं थे। 

इसे भी पढ़ें: किसान नेता ने शर्तों के साथ रैली निकालने की बात को किया नामंजूर, कहा- पुलिस के साथ वार्ता में तय होगा समय 

वहीं आगे उन्होंने कहा कि झुग्गी वालों को मकान देने की हमारी योजना बड़ी तेजी से चल रही है। कुछ जगह के लोग झुग्गी से मकानों में शिफ्ट होने से कतराते हैं। इसलिए मैं उनसे अपील करता हूं कि आप लोग फ्लैट्स में शिफ्ट हों, क्योंकि झुग्गियों में बेहतर जिंदगी नहीं है। इसी बीच महामारी के बारे में चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन का कार्य शुरू हो चुका है और मैं उम्मीद करता हूं कि वैक्सीनेशन के चलते कोरोना महामारी समाप्त होगी और जिन्दगी वापस पटरी पर लौट आएगी।

यहां सुने पूरा संबोधन: 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।