MCD Election के लिए मतदान जारी, आप-बीजेपी के बीच है टक्कर, 1336 उम्मीदवारों का तय होगा भविष्य

Delhi MCD Polls
ANI
रितिका कमठान । Dec 04, 2022 8:00AM
दिल्ली में चार दिसंबर को नगर निगम की 250 सीटों के लिए मतदान हो रहा है। मतदान की प्रक्रिया सुबह आठ बजे से शुरू हो गई है, जो शाम 5.30 बजे तक जारी रहेगी। इस बार चुनाव में कुल 1336 प्रत्याशी मैदान में है। सभी की किस्मत का फैसला आज ईवीएम में बंद होने जा रहा है।

दिल्ली में चार दिसंबर यानी रविवार को नगर निगम चुनाव के लिए मतदान की शुरुआत हो गई है। रविवार होने के कारण सुस्ती के साथ लोग घरों से निकलकर मतदान केंद्रों तक पहुंच रहे है और अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर रहे है। दिल्ली के 250 वार्डों के लिए मतदान की शुरुआत सुबह आठ बजे से हो गई है। मतदान शाम 5:30 बजे तक किए जाएंगे। दिल्ली नगर निगम के 250 वार्डों पर होने वाले चुनाव के लिए 13,638 मतदान केंद्र और 68 पिंक पोलिंग बूथों पर वोटिंग हो रही है। इस बार चुनाव में 1336 प्रत्याशी मैदान में हैं, जिसमें 709 महिला प्रत्याशी हैं।

दिल्ली में 104 सीटें पुरुषों के लिए रिजर्व है जबकि 104 सीट महिलाओं के लिए रिजर्व है। वहीं, 42 सीट एससी के लिए आरक्षित हैं। इन सीटों के लिए आज कुल 1,46,73,847 मतदाता वोट देंगे। इसमें 79,86,705 पुरुष व 66,86,081 महिलाएं और 1,061 ट्रांसजेंडर मतदाता हैं। दिल्ली एमसीडी पर फिलहाल भाजपा का कब्जा है। जानकारी के मुताबिक भाजपा 2007 से एमसीडी की सत्ता में है और चौथी बार सत्ता में आने की कोशिश कर रही है। हालांकि इस बार एमसीडी चुनाव कांग्रेस, भाजपा और आम आदमी पार्टी के बीच है। भाजपा और ‘आप’ के 250 उम्मीदवार आज चुनाव मैदान में है जबकि कांग्रेस के केवल 247 उम्मीदवार अपनी किस्मत निगम चुनावों में आजमा रहे है। 

बता दें कि मतदान केंद्रों पर ईसीआईएल कंपनी द्वारा तैयार एम-2 मॉडल की ईवीएम का इस्तेमाल किया जा रहा है। प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में कम से कम एक आदर्श मतदान केंद्र बनाया गया है। प्रत्येक निर्वाचन क्षेत्र में एक मतदान केंद्र ऐसा है जिसका संचालन महिला अधिकारियों द्वारा हो रहा है। जानकारी के मुताबिक इस बार मतदान केंद्रों की संख्या करीब 13,665 होगी जबकि 2017 में मतदान केंद्रों की संख्या 13,138 थी। चुनाव आयोग के अधिकारियों के अनुसार इस चुनाव में किसी उम्मीदवार द्वारा खर्च की अधिकतम सीमा आठ लाख रुपये तय की गई है।

इसे भी पढ़ें: Delhi MCD Elections 2022: 60 ड्रोन के साए में चुनाव, 40 हजार पुलिसकर्मी तैनात, 2 करोड़ लोगों के लिए काम करने वाले नगर निगम का इतिहास आपको पता है?

चाकचौबंद है सुरक्षा व्यवस्था

बता दें कि चुनाव सुगम तरीके से कराने के लिए करीब 40,000 पुलिसकर्मी, 20,000 होमगार्ड और अर्द्धसैनिक तथा राज्य सशस्त्र पुलिस बलों की 108 कंपनी को तैनात किया गया है। पुलिस के मुताबिक संवेदनशील क्षेत्रों में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए 60 ड्रोन से नजर रखी जा रही है। एहतियात के तौर पर पुलिस निरीक्षकों को गिरोहों के झगड़ों या सांप्रदायिक रूप ले सकने वाले किसी संघर्ष से संबंधित कोई भी फोन कॉल आने पर कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है। जोन-1 में विशेष आयुक्त (कानून व्यवस्था) दीपेंद्र पाठक ने बताया कि अगर शांति भंग करने के लिए कोई गतिविधि की जाती है तो पेशेवर पुलिस और कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

गौरतलब है कि दिल्ली नगर निगम में कुल 250 वार्ड हैं। दिल्ली नगर निगम के चुनाव इसी साल अप्रैल में होने थे। दिल्ली निर्वाचन आयुक्त एस के श्रीवास्तव चुनाव के कार्यक्रम की आठ मार्च को घोषणा करने वाले थे। लेकिन तीनों नगर निकायों के एकीकरण की केंद्र की योजना के कारण चुनाव टाल दिए गए थे। इस साल मई में केंद्र ने तीनों नगर निकायों का एकीकरण किया और जुलाई 2022 में वार्ड के परिसीमन की कवायद शुरू की गई थी। 

वर्ष 1958 में स्थापित एमसीडी को 2012 में मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के कार्यकाल के दौरान तीन भागों में विभाजित किया गया था। इसके बाद से दिल्ली में तीन नगर निगम हुआ करते थे जिनमें नॉर्थ, साउथ और इस्ट थे। लेकिन अब एक ही नगर निगम है। एमसीडी चुनाव को लेकर 50% सीट महिलाओं के लिए आरक्षित की गई है। तीन निगमों में 272 नगर निगम की सीटें हुआ करती थी। हाल ही में तीनों नागरिक निकायों को मिलाकर फिर से एक कर दिया गया, जिसके बाद सीटों की संख्या घटकर 250 रह गई है। 

दो दिसंबर को थमा था प्रचार

नगर निगम का चुनाव प्रचार दो दिसंबर को थम गया था। चुनाव प्रचार के अंतिम दिन भाजपा नेताओं ने 200 से अधिक जनसभाएं और रोड शो किए। भाजपा ने सड़क विक्रेताओं और फेरीवालों के साप्ताहिक बाजारों को नियमित करने की अपनी ‘‘प्रतिबद्धता’’ की भी घोषणा की। वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने 400 व्यापारियों के साथ टॉल हॉल जैसी बैठक का आयोजन किया। केजरीवाल और सिसोदिया सहित ‘आप’ के शीर्ष नेताओं ने शहर भर में जनसभाएं कीं और लोगों से पार्टी उम्मीदवारों को वोट देने का आग्रह किया। कांग्रेस ने चुनाव प्रचार के दौरान मतदाताओं से कई वादे भी किए। 

इन दिग्गजों ने संभाला प्रचार

भाजपा के लिए नगर निगम चुनाव के लिए केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी, पीयूष गोयल, अनुराग ठाकुर, मनोहर लाल खट्टर और पुष्कर सिंह धामी जैसे भाजपा के कई वरिष्ठ नेताओं ने प्रचार किया। भाजपा पर पलटवार करते हुए, केजरीवाल ने भाजपा पर जमकर निशाना साधा। ‘आप’ ने दिल्ली के गाजीपुर, ओखला और भलस्वा में तीन कूड़े के पहाड़ों (लैंडफिल) को हटाने में उनकी ‘‘विफलता’’ को लेकर कई बार भाजपा पर निशाना साधा। ‘आप’ और भाजपा दोनों ने विश्वास जताया है कि वे एमसीडी चुनावों में बहुमत के साथ जीत दर्ज करेंगे। जनता दल (यूनाइटेड), ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन, स्वराज इंडिया और बहुजन समाज पार्टी जैसी पार्टियां भी चुनाव मैदान में हैं। एमसीडी चुनाव के लिए मतगणना सात दिसंबर को होगी।

अन्य न्यूज़