किसानों पर लाठीचार्ज : भिवानी और जींद में घटना के विरोध में जगह-जगह प्रदर्शन

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 28, 2021   19:25
किसानों पर लाठीचार्ज : भिवानी और जींद में घटना के विरोध में जगह-जगह प्रदर्शन

हरियाणा के करनाल जिले में किसानों पर हुए लाठीचार्ज के विरोध में किसानों ने प्रदेश के विभिन्न स्थानों पर प्रदर्शन किया।भिवानी में किसानों ने घटना के विरोध में कितलाना टोल पर जाम लगा दिया। वहीं जींद जिले में किसानों ने कई सड़कों पर यातायात बाधित कर दी।

भिवानी। हरियाणा के करनाल जिले में किसानों पर हुए लाठीचार्ज के विरोध में किसानों ने प्रदेश के विभिन्न स्थानों पर प्रदर्शन किया।भिवानी में किसानों ने घटना के विरोध में कितलाना टोल पर जाम लगा दिया। वहीं जींद जिले में किसानों ने कई सड़कों पर यातायात बाधित कर दी। भिवानी जिले में कितनाला टोल पर भारतीय किसान यूनियन (भाकियू)के जिलाध्यक्ष राकेश आर्य के नेतृत्व में किसानों ने प्रदर्शन् किया और सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।

इसे भी पढ़ें: सोवियत संघ से लड़ाई के वक्त बनाया गया हक्कानी नेटवर्क, जिसके अल कायदा से भी है संबंध, CIA का भी रहा है भागीदार

आर्य ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार किसानों को डरा-धमकाकर अपने हकों से वंचित रखना चाहती है, लेकिन किसान अब अपने संघर्ष से पीछे नहीं हटेगा तथा जब तक किसानों को अपने हक नहीं मिलेंगे, तब तक उनकी घर वापसी नहीं होगी। उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘ केंद्र सरकार किसानों को बर्बाद करउद्योगपतियों के हाथों में देश की कृषि व्यवस्था सौंपना चाहती है, जिसे किसान किसी भी सूरत में पूरा नहीं होने देंगे।’’

इसे भी पढ़ें: क्लब स्तर की प्रतियोगिता में सफलता ने खेल के गंभीरता से लेने के लिए प्रेरित किया: भाविनाबेन पटेल

करनाल की घटना के विरोध में जींद के किसानों और विभिन्न संगठनों ने भी शनिवार दोपहर जिले में करीब 21 स्थानों पर राष्ट्रीय व राज्य राजमार्गों को जाम कर दिया जिसकी वजह से जींद-रोहतक, जींद-पटियाला, जींद-कैथल, जींद-करनाल, जींद-सफीदों, असंध-पानीपत, जींद-हिसार, हिसार-चंडीगढ, जींद-बरवाला, नरवाना-टोहाना मार्ग बाधित हो गया। सड़क पर बैठ कर प्रदर्शन कर रहे किसानों का कहना है कि जब तक गिरफ्तार किए गए किसानों को छोड़ा नहीं जाता तब तक जाम नहीं खोले जाएंगे। रास्ते जाम होने की वजह से यातायात प्रभावित हुआ है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।