• हरियाणा कांग्रेस में भी मतभेद! हुड्डा ने बुलाई CLP की बैठक तो गायब रहे पार्टी के छह विधायक

अंकित सिंह Sep 23, 2021 13:36

हुड्डा के इस बैठक के बाद राज्य में राजनीतिक हलचल तेज थी। सब को इस बात का इंतजार था कि आखिर हुड्डा इस पर क्या कहते हैं। माना जा रहा है कि हुड्डा आगामी दिनों के लिए रणनीति तैयार करने में जुटे हुए हैं।

पंजाब कांग्रेस में उठापटक के बाद पड़ोसी राज्य हरियाणा में भी पार्टी के लिए सिरदर्द बढ़ सकती है। हालांकि कांग्रेस के लिए मुश्किलें राजस्थान और छत्तीसगढ़ में भी कम नहीं है। लेकिन हरियाणा में कांग्रेस के अंदर की कलह की खबरें भी अब पार्टी के लिए चुनौती बन सकती है। दरअसल, हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कांग्रेस विधायक दल की बैठक बुलाई थी। लेकिन इस बैठक से 6 विधायक गायब रहे। इसके बाद हरियाणा की राजनीति में इसको लेकर चर्चा गर्म है। यह विधायक दल की बैठक ऐसे समय में बुलाई गई थी जब राज्य में विधानसभा का सत्र चल ही नहीं रहा।  यही कारण है कि इस बैठक पर आलाकमान के भी नजर थी।

इसे भी पढ़ें: हरियाणा हाई कोर्ट का बड़ा फैसला, 18 साल की उम्र तक याचिका डालने पर वैध माना जाएगा नाबालिग लड़की का विवाह

क्या है मुद्दा

भले ही विधायक दल की बैठक को लेकर हुड्डा ने औपचारिक तौर पर आज कुछ बातें जरूर कहीं हैं। लेकिन माना जा रहा है कि कहीं ना कहीं यह बैठक हुड्डा ने आलाकमान को अपनी ताकत दिखाने के लिए बुलाई थी। यही कारण है कि राजनीतिक विश्लेषक इसे हुड्डा की आलाकमान पर दबाव बनाने की नीति बतला रहे हैं। इस बैठक के जरिए भूपेंद्र सिंह हुड्डा आलाकमान को यह संदेश देने की कोशिश कर रहे हैं कि पंजाब की घटनाक्रम यहां ना दोहराया जाए। राज्य में पार्टी के ज्यादातर विधायक तो हुड्डा के साथ है लेकिन पिछले 2 साल से इस में कोई इजाफा नहीं हुआ है। काहे बगाहें अपने बयानों की वजह से हुड्डा चर्चा में आ जाते हैं। हुड्डा की बैठक से कुलदीप बिश्नोई, किरण चौधरी, शैली गुर्जर, रेनू बाला, चिरंजीवी राव और शीशपाल केहरवाला गायब रहे।

बैठक के बाद  हुड्डा ने क्या कहा

हुड्डा के इस बैठक के बाद राज्य में राजनीतिक हलचल तेज थी। सब को इस बात का इंतजार था कि आखिर हुड्डा इस पर क्या कहते हैं। माना जा रहा है कि हुड्डा आगामी दिनों के लिए रणनीति तैयार करने में जुटे हुए हैं। इन सब के बीच आज उन्होंने संवाददाता सम्मेलन कर कल हुए बैठक के बारे में जानकारी दें। हुड्डा ने कहा कि कांग्रेस विधायक दल (सीएलपी) की बैठक में हमने महंगाई और अन्य मुद्दों के खिलाफ राज्य भर में 'विपक्ष आपके समक्ष' कार्यक्रम आयोजित करने का फैसला किया। मैं 10 अक्टूबर को करनाल ( सीएम के निर्वाचन क्षेत्र) से इस कार्यक्रम का शुभारंभ करूंगा। उन्होंने कहा कि मंडियों में पीआर-14 धान की किस्म एमएसपी से कम पर बिकी। जिन किसानों की फसल भारी बारिश के कारण खराब हुई है, उन्हें कोई मुआवजा नहीं दिया गया है। राष्ट्रीय नमूना सर्वेक्षण कार्यालय (NSSO) की हालिया रिपोर्ट के अनुसार, किसानों की आय घट रही है।