संदेह पैदा करता है कि क्या गड्ढा मुक्त महाराष्ट्र के बारे में सोचा जा सकता है: सुप्रिया सुले

doubts-arise-as-to-whether-a-pit-free-maharashtra-can-be-thought-of-supriya-sule
सुले ने ट्वीट किया, ‘‘संदेह पैदा करता है कि क्या गड्ढा मुक्त महाराष्ट्र के बारे में सोचा जा सकता है , नहीं तो यह क्या है? राज्य में गड्ढों के कारण सड़कों की हालत बहुत खराब है... बार-बार सरकार से सवाल करने पर वह हर साल 15 दिसंबर की समयसीमा दे देती है जबकि, कोई काम नहीं किया जाता।

मुंबई। राकांपा सांसद सुप्रिया सुले ने शुक्रवार को गड्ढों वाली सड़कों को लेकर महाराष्ट्र सरकार की फिर से आलोचना की और आरोप लगाया कि उन्हें 15 दिसंबर तक ठीक करने के अपने वादे का पालन नहीं कर रही है।उन्होंने लोगों से ‘‘सेल्फी विथ गड्ढे’’ क्लिक करने और सोशल मीडिया पर इसे साझा कर मुख्यमंत्री कार्यालय को टैग करने के लिए कहा।

सुले ने ट्वीट किया, ‘‘संदेह पैदा करता है कि क्या गड्ढा मुक्त महाराष्ट्र के बारे में सोचा जा सकता है , नहीं तो यह क्या है? राज्य में गड्ढों के कारण सड़कों की हालत बहुत खराब है... बार-बार सरकार से सवाल करने पर वह हर साल 15 दिसंबर की समयसीमा दे देती है जबकि, कोई काम नहीं किया जाता।’’ बारामती से लोकसभा सांसद ने आगे कहा कि लोगों को अब सरकार को इस बारे में याद दिलाना चाहिए।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़