1000 एकड़ में तैयार की जाएगी फिल्म सिटी, योगी सरकार ने दी DPR को मंजूरी

YOGI
निधि अविनाश । Aug 26, 2021 6:08PM
उत्तर प्रदेश सरकार ने डीपीआर प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।यह मंजूरी फिल्म सिटी के लिए एक बड़ा मील का पत्थर है, जिसके 165 किलोमीटर लंबे यमुना एक्सप्रेसवे के साथ आने की उम्मीद है। यह परियोजना फिल्म निर्माण के सभी चरणों को प्रोत्साहित करेगी और जनता को विभिन्न मनोरंजन प्रदान करेगी।

उत्तर प्रदेश सरकार ने बुधवार को ग्रेटर नोएडा में फिल्म सिटी के लिए विकास के एक हाइब्रिड मॉडल के लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। डीपीआर बनाने वाली कंपनी तीन हफ्ते के अंदर बिड डाक्यूमेंट को तैयार करेगी जिसके बाद ग्लोबल टेंडर जारी किया जाएगा। हिंदी अखबार NBT में छपी एक खूर के मुताबिक, तीन चरणों में तैयार किए जाने वाली यह फिल्म सिटी की कंपनी का चयन 31 दिसंबर तक किया जाएगा। 

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियत्रंण बोर्ड ने गौतमबुद्ध नगर के 51 अस्पतालों को जारी किया नोटिस

यह मॉडल यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण  को सेक्टर 21 में लगभग 1,000 एकड़ के अपने योगदान के माध्यम से परियोजना में इक्विटी रखेगा, जबकि फिल्म सिटी का विकास और संचालन करने वाला रियायतकर्ता सरकार को 100 करोड़ का भुगतान करेगा। अधिकारियों ने कहा कि 10 साल की मोहलत के बाद और प्राधिकरण को अपने राजस्व का एक हिस्सा देने की पेशकश करें।

इसे भी पढ़ें: प्रेम प्रसंग के चलते ऑनर किलिंग मे लड़की का पिता गिरफ्तार

आपको बता दें कि यह मंजूरी फिल्म सिटी के लिए एक बड़ा मील का पत्थर है, जिसके 165 किलोमीटर लंबे यमुना एक्सप्रेसवे के साथ आने की उम्मीद है। यह परियोजना फिल्म निर्माण के सभी चरणों को प्रोत्साहित करेगी और जनता को विभिन्न मनोरंजन प्रदान करेगी। फिल्म सिटी को तैयार करने वाली कंपनी के साथ 40 साल का एग्रीमेंट होगा और इसे तीन चरणों में तैयार किया जाएगा। पहले चरण में फिल्म स्टूडियो, खुला एरिया, एम्यूजमेंट पार्क, विला आदि तैयार किए जाएंगे। अथॉरिटी अधिकारियों के मुताबिक, पहल चरण में ही फिल्म शूंटिग से जुड़ी 80 फीसदी का काम तैयार कर दिया जाएगा।फिर हॉस्पिलिटी, रिजॉर्ट व अन्य व्यापारिक गतिविधियों को तैयार किया जाएगा वहीं  तीसरे चरण में रिटेल डिवेलपमेंट होगा।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़