सिद्धू के बयान से मनीष तिवारी खफा, बोले- ...वो क़त्ल भी करते हैं तो चर्चा नहीं होती

सिद्धू के बयान से मनीष तिवारी खफा, बोले- ...वो क़त्ल भी करते हैं तो चर्चा नहीं होती

नवजोत सिंह सिद्धू ने अमृतसर में एक सभा में कहा था कि कांग्रेस आलाकमान को उन्हें फैसले करने की आजादी देनी चाहिए। नहीं तो ईंट से ईंट बजाने दूंगा। इसी से जुड़ा वीडियो मनीष तिवारी से साझा करते हुए तंज कसा है।

चंडीगढ़। पंजाब में जारी घमासान के बीच कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी की एंट्री हो गई है। उन्होंने प्रदेश कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू का एक वीडियो साझा कर उन पर हमला बोला है। कांग्रेस सांसद ने ट्वीट पर लिखा कि हम आह भी भरते हैं तो हो जाते हैं बदनाम, वो क़त्ल भी करते हैं तो चर्चा नहीं होती। 

इसे भी पढ़ें: पंजाब कांग्रेस में घमासान, हरीश रावत बोले- भाजपा अपना घर देखे, हम स्थिति को संभालने में सक्षम 

दरअसल, नवजोत सिंह सिद्धू ने अमृतसर में एक सभा में कहा था कि कांग्रेस आलाकमान को उन्हें फैसले करने की आजादी देनी चाहिए और वह सुनिश्चित करेंगे कि कांग्रेस राज्य की सत्ता में अगले 20 साल बनी रहे। उनका कहना है कि उन्होंने इसको लेकर रूपरेखा तैयार की है। उन्होंने कहा था, ‘‘पार्टी आलाकमान को निर्णय लेने की आजादी देनी चाहिए, अन्यथा मुंहतोड़ जवाब मिलेगा।’’ उन्होंने इसी बयान के बीच में ईंट से ईंट बजाने की बात कही थी।

नवजोत सिंह सिद्धू के बयान के बाद से पंजाब की राजनीति गर्मा गई है। दरअसल, मनीष तिवारी मे ट्वीट कर अमरिंदर सिंह का समर्थन किया है। क्योंकि उन्हें अमरिंदर खेमे का माना जाता है। इतना ही नहीं मनीष तिवारी उन नेताओं में शामिल हैं जिन्होंने कांग्रेस के आलानेतृत्व पर सवाल खड़ा किया था।

मनीष तिवारी के ट्वीट के बाद माना जा रहा है कि वह नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ कार्रवाई चाहते हैं। लेकिन सिद्धू के लहजे से जुड़े सवाल पर हरीश रावत ने कहा था कि ऐसा कुछ भी नहीं है, सभी विनम्र हैं। वे जानते हैं कि क्या करना है। हर किसी के बोलने का अपना अंदाज होता है, इसे बगावत कहना गलत होगा। 

इसे भी पढ़ें: सिद्धू भारत विरोधी विचार से ओत-प्रोत हैं, सलाहकार के इस्तीफ़ा देने से काम नहीं चलेगा: संबित पात्रा 

आलाकमान को सौंपी रिपोर्ट

पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत ने आलाकमान को रिपोर्ट सौंप दी है। उन्होंने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की। इस मुलाकात के बाद उन्होंने कहा कि मैंने उन्हें पंजाब की स्थिति की जानकारी दी, जिसकी जानकारी मैं पहले ही कांग्रेस अध्यक्ष को दे चुका हूं। हमारे सब लोग चुनाव के लिए मिलकर काम कर रहे हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।