पूर्वोत्तर से राहुल गांधी ने जताई 20 अधिक लोकसभा सीट जीतने की उम्मीद

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 27, 2019   08:53
पूर्वोत्तर से राहुल गांधी ने जताई 20 अधिक लोकसभा सीट जीतने की उम्मीद

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि मैं पूर्वोत्तर में कांग्रेस पार्टी से 20 से अधिक सीटों की उम्मीद कर रहा हूं, उससे कुछ भी कम नहीं। यद्यपि मेरा मानना है कि आपको 22 सीटें जीतने का प्रयास करना चाहिए।

गुवाहाटी। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आगामी लोकसभा चुनाव में पूरे पूर्वोत्तर में 25 सीटों में से कम से कम 20 सीटें जीतने का लक्ष्य मंगलवार को तय किया। गांधी ने सभी पूर्वोत्तर राज्यों के कांग्रेस जिला एवं खंड इकाई प्रमुखों को संबोधित करते हुए कहा कि पार्टी क्षेत्र में चुनाव लड़ते हुए तीन से चार प्रमुख मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करेगी जिसमें विवादास्पद नागरिकता विधेयक और एनआरसी को ‘‘सही तरीके से लागू नहीं करना’’ शामिल है।

इसे भी पढ़ें: किरेन रिजिजू का राहुल पर बड़ा हमला, कहा- नहीं जानते शहीद की परिभाषा

उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा, ‘मैं पूर्वोत्तर में कांग्रेस पार्टी से 20 से अधिक सीटों की उम्मीद कर रहा हूं, उससे कुछ भी कम नहीं। यद्यपि मेरा मानना है कि आपको 22 सीटें जीतने का प्रयास करना चाहिए।’ उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव जीतने के बाद कांग्रेस सदस्यों को पार्टी को सभी राज्यों में सत्ता में वापस लाने पर काम करना चाहिए जहां से उसे ‘‘गलत तरीके’’ से बाहर कर दिया गया था।

इसे भी पढ़ें: पूनम बिल्लोरे सभी देशवासियों के लिए प्रेरणास्रोत: राहुल गांधी

गांधी ने कहा, ‘कांग्रेस भारत और पूर्वोत्तर में तीन-चार अलग-अलग मुद्दों पर चुनाव लड़ेगी। इसमें एक नागरिकता विधेयक है। कांग्रेस का रुख स्पष्ट है कि हम इस विधेयक का विरोध करते हैं। कांग्रेस पार्टी पूर्वोत्तर के लिए खड़ी हुई और विधेयक को राज्यसभा में आने से रोक दिया।’ उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार भी एक बड़ा मुद्दा है। जब भी मैं 'चौकीदार' शब्द का उल्लेख करता हूं, सभी कहते हैं ‘चौकीदार चोर है’। मैं इस देश के सभी ‘चौकीदारों’ से उनकी विश्वसनीयता को खतरे में डालने के लिए माफी मांगता हूं लेकिन मैं कह रहा हूं केवल एक ही चौकीदार चोर है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।