भाजपा में टिकट को लेकर मारामारी! बेटे के टिकट के लिए खुद इस्तीफा देने को तैयार रीता बहुगुणा जोशी

भाजपा में टिकट को लेकर मारामारी! बेटे के टिकट के लिए खुद इस्तीफा देने को तैयार रीता बहुगुणा जोशी

रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि मेरा बेटा 12 सालों से भाजपा के लिए काम कर रहा है। ऐसे में उसे टिकट मिलना चाहिए, यह उसका अधिकार भी है। रीता बहुगुणा जोशी ने अपने बेटे के लिए लखनऊ कैंट से टिकट मांगा है। एक परिवार एक टिकट के सिद्धांत को लेकर रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि अगर उनके बेटे को पार्टी टिकट देती है तो वह सांसद पद से इस्तीफा देने को तैयार हैं।

उत्तर प्रदेश में विधानसभा के चुनाव होने है। सत्तारूढ़ भाजपा दो चरणों के लिए अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर चुकी है। भाजपा सूत्रों के अनुसार पार्टी अब तीसरे और चौथे चरण के उम्मीदवारों को लेकर माथापच्ची कर रही है। हालांकि भाजपा में भी टिकट को लेकर खूब मारामारी मची है। अपने रिश्तेदारों को टिकट दिलाने के लिए ही कई नेता भाजपा से अपना पाला बदल चुके हैं। जबकि भाजपा एक नेता एक टिकट के सिद्धांत को लेकर आगे बढ़ रही है। इसी कड़ी में अब चर्चा रीता बहुगुणा जोशी की भी हो गई है। बताया जा रहा है कि रीता बहुगुणा जोशी अपने बेटे के लिए लगातार टिकट मांग रही है। चर्चा ऐसी भी है कि रीता बहुगुणा जोशी फिलहाल नाराज चल रही हैं। इन सब के बीच आज वह मीडिया के सामने आईं।

इसे भी पढ़ें: CM योगी का अखिलेश यादव पर बड़ा हमला, अपराधियों के साथ SP, पैसे लेकर दिए टिकट

रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि मेरा बेटा 12 सालों से भाजपा के लिए काम कर रहा है। ऐसे में उसे टिकट मिलना चाहिए, यह उसका अधिकार भी है। रीता बहुगुणा जोशी ने अपने बेटे के लिए लखनऊ कैंट से टिकट मांगा है। एक परिवार एक टिकट के सिद्धांत को लेकर रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि अगर उनके बेटे को पार्टी टिकट देती है तो वह सांसद पद से इस्तीफा देने को तैयार है। उन्होंने दावा किया कि यह बात भाजपा नेतृत्व को भी बता दी गई है। साथ ही साथ रीता बहुगुणा जोशी ने इस बात का भी ऐलान कर दिया है कि वह 2024 में भी लोकसभा चुनाव में नहीं लड़ेंगी।

इसे भी पढ़ें: UP में जेडीयू की अलग राह, जानिए कितने सीटों पर उम्मीदवार उतारने की तैयारी

आपको बता दें कि रीता बहुगुणा जोशी पहले कांग्रेस में थीं। हालांकि बाद में वह भाजपा में आ गईं। भाजपा में ऐसे कई नेता हैं जो इस विधानसभा चुनाव में अपने बेटे-बेटियों को चुनावी मैदान में उतरना चाहते हैं। इसी कड़ी में प्रयागराज से सांसद रीता बहुगुणा जोशी लखनऊ कैंट से अपने बेटे मयंक जोशी के लिए टिकट मांग रही हैं। रीता बहुगुणा जोशी भी इस सीट से 2 बार विधायक रह चुकी हैं। ऐसे में वह अब अपने बेटे को विधायक बनाना चाहती हैं। भाजपा में ऐसे कई सांसद हैं जो इस वक्त अपने रिश्तेदारों के लिए टिकट की दावेदारी कर रहे हैं। इसी कड़ी में सलेमपुर सांसद रविंद्र कुशवाहा, कानपुर नगर से भाजपा सांसद सत्यदेव पचौरी, मोहनलालगंज से सांसद और केंद्रीय मंत्री कौशल किशोर जैसे नेताओं के नाम शामिल हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।