छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में एक इनामी माओवादी समेत पांच माओवादियों ने किया आत्मसमर्पण

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 23, 2020   19:31
छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में एक इनामी माओवादी समेत पांच माओवादियों ने किया आत्मसमर्पण

अधिकारियों ने बताया कि सभी माओवादियों ने जिले में चल रहे लोन वर्राटू (घर वापसी) अभियान से प्रभावित होकर तथा माओवादी संगठन की खोखली विचारधारा से तंग आकर समाज की मुख्यधारा में शामिल होने का फैसला किया है।

रायपुर। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा जिले में एक इनामी माओवादी समेत पांच माओवादियों ने सुरक्षा बलों के सामने आत्मसमर्पण किया। दंतेवाड़ा जिले के पुलिस अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि माओवादियों के दरभा डिवीजन में तैनात प्लाटून सेक्शन डिप्टी कमाण्डर सोमडू वेट्टी (22), जनमिलिशिया सदस्य बामन उर्फ डेंगा यादव (40), जनमिलिशिया सदस्य देवा मड़कम (30), चेतना नाट्य मंडली का सदस्य लक्ष्मण सोड़ी (20) और महिला नक्सली मड़कम बोज्जो (20) ने सुरक्षा बलों के सामने आत्मसमर्पण किया। अधिकारियों ने बताया कि सभी माओवादियों ने जिले में चल रहे लोन वर्राटू (घर वापसी) अभियान से प्रभावित होकर तथा माओवादी संगठन की खोखली विचारधारा से तंग आकर समाज की मुख्यधारा में शामिल होने का फैसला किया है। 

इसे भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, महिला समेत तीन माओवादी ढेर

उन्होंने बताया कि समर्पण करने वाले माओवादियों में से सोमडू वेट्टी पर तीन लाख रुपए का इनाम है। अधिकारियों ने बताया कि माओवादियों के खिलाफ पुलिस दल पर हमला, सार्वजनिक संपत्तियों के नुकसान पहुंचाने और माओवादी बैनर पोस्टर लगाने समेत अन्य अपराध में शामिल होने का आरोप है। उन्होंने बताया कि जिले में चलाए जा रहे नक्सल उन्मूलन अभियान के तहत प्रतिबंधित माओवादी संगठन में सक्रिय हैं विभिन्न गांवों के लोगों के नाम थाना, शिविरों और ग्राम पंचायतों में चस्पा किये जा रहे हैं। इस दौरान माओवादियों से आत्मसमर्पण करने की अपील की जा रही है। पुलिस ने बताया कि इस अभियान के तहत पिछले चार महीने में 56 इनामी माओवादियों समेत कुल 208 माओवादियों ने आत्मसमर्पण किया है। आत्मसमर्पण करने वाले माओवादियों को 10 हजार रुपए प्रोत्साहन राशि दी गई है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।