राम मंदिर पर फैसला देने वाले पूर्व CJI रंजन गोगोई को मिली जेड प्लस सुरक्षा

राम मंदिर पर फैसला देने वाले पूर्व CJI रंजन गोगोई को मिली जेड प्लस सुरक्षा

राज्यसभा सांसद रंजन गोगोई को पूरे भारत में यात्रा के दौरान जेड श्रेणी की सुरक्षा दी जाएगी। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल को रंजन गोगोई को सुरक्षा प्रदान करने को कहा गया है।

अयोध्या विवाद पर फैसला सुनाने वाले पूर्व मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई को जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा दी गई है। केंद्र सरकार की ओर से वर्तमान राज्यसभा सांसद रंजन गोगोई को पूरे भारत में यात्रा के दौरान ये सुरक्षा दी जाएगी। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल को रंजन गोगोई को सुरक्षा प्रदान करने को कहा गया है।

9 नवंबर 2019 को रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ ने पिछले साल आयोध्या भूमि विवाद मामले में फैसला सुनाया था। पिछले वर्ष मार्च के महीने में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पूर्व मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई को राज्यसभा के लिए नामित किया था। हालांकि गोगोई को राज्यसभा के लिए नामित किए जाने पर कई तरह की राजनीतिक प्रतिक्रियाएं भी आईं थी और विपक्षी पार्टियों ने बीजेपी पर सवाल भी उठाए थे। 

इसे भी पढ़ें: भगवान राम ने वनवासियों को जोड़ा था राजमहल से

दिए कई ऐतिहासिक फैसले

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस के रूप में रंजन गोगोई ने साढ़े 13 महीने तक कार्य किया। इस दौरान उन्होंने कुल 47 फैसले सुनाए। जिनमें चीफ जस्टिस कार्यलय को आरटीआई के दायरे में लाना, राफेल डील, सबरीमाला मंदिर और सरकारी विज्ञापन में नेताओं की तस्वीर प्रकाशित करने पर पाबंदी जैसे मामलों पर निर्णय शामिल है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।