असम सरकार पर बरसे गौरव गोगोई, पूछा- क्या होटलों के भाड़े से बाढ़ प्रभावित लोगों की होगी मदद?

gaurav gogoi
ANI
अंकित सिंह । Jun 23, 2022 3:30PM
गौरव गोगोई ने एक बार फिर से भाजपा और केंद्र तथा प्रदेश सरकार पर जबरदस्त तरीके से निशाना साधा है। गौरव गोगोई ने कहा कि असम बाढ़ की चपेट में है और भाजपा के लोग राजनीति में व्यस्त हैं। उन्होंने इसके लिए असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा पर भी निशाना साधा।

असम इस वक्त भयंकर बाढ़ की चपेट में है। इस बाढ़ से लगभग असम के 32 जिलों के 55 लाख लोग प्रभावित हैं। हालांकि असम इस बार एक और कारण से सुर्खियों में है। दरअसल, महाराष्ट्र में हो रही राजनीतिक उठापटक का केंद्र असम का गुवाहाटी बन गया है। दरअसल, शिवसेना के बागी विधायक गुवाहाटी के होटल में ठहरे हुए हैं। विपक्ष इसे भाजपा की साजिश बता रहा है। इसी कड़ी में गौरव गोगोई ने एक बार फिर से भाजपा और केंद्र तथा प्रदेश सरकार पर जबरदस्त तरीके से निशाना साधा है। गौरव गोगोई ने कहा कि असम बाढ़ की चपेट में है और भाजपा के लोग राजनीति में व्यस्त हैं। उन्होंने इसके लिए असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा पर भी निशाना साधा।

इसे भी पढ़ें: क्या गिर जाएगी उद्धव सरकार ? केंद्र में मंत्री पद, महाराष्ट्र के 8 प्रमुख मंत्रालय... भाजपा ने शिंदे को दिया यह प्रस्ताव: सूत्र

गौरव गोगोई ने कहा कि हमें जब केंद्र सरकार से मानवीय मदद की ज़रूरत थी तब उनमें सिर्फ सत्ता की भूख और लालच दिखाई दी। असम के मुख्यमंत्री कहते हैं कि बाहर से जब लोग आएंगे, होटल में रुकेंगे तो राजस्व बढ़ेगा जिससे हम बाढ़ से प्रभावित लोगों की मदद कर पाएंगे। उन्होंने कहा कि मैं पूछना चाहता हूं कि क्या उनके इतने बुरे दिन आ गए हैं कि वह होटलों के भाड़े से बाढ़ प्रभावित लोगों की मदद करेगी? क्या आपने प्रधानमंत्री मोदी, गृह मंत्री अमित शाह से राहत राशि की मांग की? अगर राज्य की अर्थव्यवस्था इतनी खराब है तो क्या आपने उनसे मदद मांगी? इसके साथ उन्होंने यह भी कहा कि मुख्यधारा के चैनल जो गुवाहाटी में राजनीतिक समाचारों को कवर कर रहे हैं, कृपया सिलचर और करीमगंज में लोगों की हताशा को कवर करें। उनके पास पानी नहीं है, लोग मर रहे हैं और शमशान पानी से भर रहे हैं। मुझे कई फोन आ रहे हैं और ज्यादा से ज्यादा मदद करने की कोशिश कर रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: बाढ़ से बेहाल शहर-शहर! असम में एक दिन में 12 लोगों की मौत, 55 लाख लोग प्रभावित, ब्रह्मपुत्र का जलस्तर बढ़ा

इससे पहले कांग्रेस सांसद गौरव गोगोई ने कहा था कि महाराष्ट्र के (बागी) विधायकों की निगरानी के लिए सरकारी संसाधानों का स्थानांतरण बाढ़ के मद्देनजर निर्दयी और नृशंस है। उन्होंने ट्वीट किया कि जबतक भाजपा की विदाई नहीं होती, भारतीय लोगों की दुर्दशा जारी रहेगी। आपको बता दें कि असम में बाढ़ की स्थिति बुधवार को भी बेहद गंभीर बनी रही। अधिकारियों ने बताया कि बाढ़ से राज्य में 12 और व्यक्तियों की मौत हो गई है जबकि 32 जिलों में 55 लाख लोग इससे प्रभावित हैं। अधिकारियों ने बताया कि राज्य की दो प्रमुख नदियों ब्रह्मपुत्र और बराक का जलस्तर लगातार बढ़ने से नये इलाकों में बाढ़ का पानी भरने लगा है। उन्होंने बताया कि होजाई में चार लोगों की मौत हुई है जबकि बारपेटा और नलबाड़ी में तीन-तीन और कामरुप जिले में दो लोगों की मौत हुई है। उन्होंने बताया कि राज्य में बाढ़ और भूस्खलन से अभी तक 101 लोगों की मौत हुई है। अधिकारियों ने बताया कि बराक घाटी के तीन जिलों... कछार, करीमगंज और हैलीकांडी में हालत अभी भी गंभीर है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़