नीतियों और कानून के निर्माण में युवा दें अपनी राय: रामजस कॉलेज के वार्षिक समारोह में बोले ओम बिरला

Om Birla
Twitter
लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने आजादी के अमृत महोत्सव का जिक्र करते हुए कहा कि भारत ने इन 75 वर्षों में प्रगति की नई ऊंचाइयों को छुआ है। उन्होंने कहा कि आज युवाओं की जिम्मेदारी है कि वे हमारे देश को प्रगति के पथ पर आगे ले जाएं। हम अपने लोकतांत्रिक देश में कैसे बदलाव ला सकते हैं।

नयी दिल्ली। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने शनिवार को राष्ट्रीय राजधानी के रामजस कॉलेज के वार्षिक समारोह में शिरकत किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि युवाओं को राष्ट्र के प्रति अपने कर्तव्यों पर ध्यान देना चाहिए और संविधान का ज्ञान होना चाहिए। उन्होंने कहा कि युवाओं को हमारे महान व्यक्तित्वों के विचारों और दर्शन को समझने की जरूरत है। जिन सपनों के लिए उन्होंने संघर्ष किया, उन्हें पूरा करने की जिम्मेदारी युवाओं पर है।

इसे भी पढ़ें: स्मृति ईरानी ने राष्ट्रपति के लिए नहीं किया मैडम या श्रीमती का इस्तेमाल, अधीर रंजन ने लोकसभा अध्यक्ष से की कार्रवाई की मांग 

लोकसभा अध्यक्ष ने आजादी के अमृत महोत्सव का जिक्र करते हुए कहा कि भारत ने इन 75 वर्षों में प्रगति की नई ऊंचाइयों को छुआ है। उन्होंने कहा कि आज युवाओं की जिम्मेदारी है कि वे हमारे देश को प्रगति के पथ पर आगे ले जाएं। हम अपने लोकतांत्रिक देश में कैसे बदलाव ला सकते हैं ताकि हर नागरिक प्रगति का हिस्सा बन सके। यह जिम्मेदारी भी युवाओं की है।

ओम बिड़ला ने कहा कि लोकतंत्र में हमारा कर्तव्य वोट डालने से समाप्त नहीं होता है। सरकार बनने के बाद युवाओं की जिम्मेदारी बनती है कि वह सरकार के हर फैसले और नीतियों में हिस्सा लें। जब एक मसौदा विधायिका के सामने लाया जाता है, तो युवाओं को मसौदे का अध्ययन और विश्लेषण करना चाहिए और अपने सुझाव देना चाहिए। उन्होंने कहा कि इससे कानून सार्थक और मजबूत होंगे।

इसे भी पढ़ें: राष्ट्रपत्नी टिप्पणी को लेकर अधीर रंजन ने महामहिम से मांगी माफी, बोले- यह जुबान फिसलने की वजह से हुआ 

उन्होंने कहा कि आजादी का अमृत महोत्सव से शुरू अमृत काल की यात्रा नए भारत के निर्माण की यात्रा होगी। ऐसा भारत, जहां समाज के आखिरी पायदान पर खड़े व्यक्ति के लिए भी न्याय, समानता, स्वतंत्रता सच्चे अर्थों में सुनिश्चित होगी। जन-जन की आकांक्षाओं-उम्मीदों के ऐसे भारत का निर्माण आप युवा ही करेंगे। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़