सौहार्द शिरोमणि डॉ. सौरभ पाण्डेय सहित नेपाल में सम्मानित हुआ धराधाम प्रतिनिधि मंडल

सौहार्द शिरोमणि डॉ. सौरभ पाण्डेय सहित नेपाल में सम्मानित हुआ धराधाम प्रतिनिधि मंडल
प्रतिरूप फोटो

कार्यक्रम में ई.मिन्नत गोरखपुरी एवं डॉ. एहसान अहमद ने पर्यावरण पर आधारित काव्यपाठ कर लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया।इस कार्यक्रम में भारत, नेपाल,भूटान ,बैंकॉक एवं बांग्लादेश कई देशों के पर्यावरण योद्धाओं को सम्मानित किया गया।

गोरखपुर। विश्व को शांति एवम् अहिंसा का संदेश देने वाले गौतम बुद्ध की जन्मस्थली नेपाल के लुंबिनी प्रान्त में गोरखपुर का नाम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चमका है। नेपाल सरकार के लुंबिनी प्रदेश के आर्थिक मामले एवं सहकारिता मंत्री सुषमा यादव ने  पर्यावरण,सामाजिक एवं स्वास्थ्य के क्षेत्र में राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कार्य करने वाले  धराधाम इंटरनेशनल के प्रमुख  सौहार्द शिरोमणि डॉ.सौरभ पाण्डेय,निदेशक डॉ.एहसान अहमद, धरा अम्बेसडर ई.मिन्नत गोरखपुरी  एवं पर्यावरण/स्वास्थ्य संवर्धन के लिए उत्कृष्ट योगदान देने वाले प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कौड़ीराम में कार्यरत वर्ल्ड रेकॉर्ड होल्डर ऑनरेरी  डॉ.विनय श्रीवास्तव को अंतर्राष्ट्रीय पर्यावरण योद्धा सम्मान से सम्मानित किया।

इसे भी पढ़ें: विपक्षी पार्टियां प्रजातंत्र में नहीं, परिवार तंत्र में विश्वास करती हैं : जेपी नड्डा

कार्यक्रम का आयोजन नीम पीपल तुलसी अभियान के अध्यक्ष प्रसिद्ध पर्यावरणविद डॉ.धर्मेन्द्र कुमार ,नेपाल के ग्रीन यूथ ऑफ लुम्बिनी के अर्जुन कुर्मी ,सेव कमला अभियान,जनकपुर धाम के विक्रम यादव एवं राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता मंटू कुमार द्वारा किया गया। कार्यक्रम में ई.मिन्नत गोरखपुरी एवं डॉ. एहसान अहमद ने  पर्यावरण पर आधारित काव्यपाठ कर लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया।इस कार्यक्रम में भारत, नेपाल,भूटान ,बैंकॉक एवं बांग्लादेश कई देशों के पर्यावरण योद्धाओं को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर मनमोहन चौधरी, मेयर लुंबिनी सांस्कृतिक नगर पालिका अवधेश कुमार त्रिपाठी, उपाध्यक्ष लुंबिनी विकास कोष पशुपतिनाथ

कोइराला, सचिव पर्यावरण मंत्रालय लुंबिनी प्रदेश नेपाल मोहम्मद अकरम ,लेखिका डॉ. हर्ष प्रभा आदि को मोमेंटो,प्रमाण पत्र एवं अंग वस्त्र देकर समानित किया।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।