पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी तत्काल वापस ले सरकार: राहुल

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 29, 2020   16:59
पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी तत्काल वापस ले सरकार: राहुल

कोरोना, बेरोजगारी और आर्थिक तूफान आया हुआ है। इस तूफान से सबको नुकसान हुआ है। अमीरों को चोट लगी है, गरीबों को चोट लगी, गरीबों और मजदूरों को चोट लगी है। लेकिन सबसे ज्यादा दर्द मजदूरों, किसानों, मध्य वर्ग और वेतन भोगी वर्ग को हुआ है।

नयी दिल्ली।  कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोतरी को लेकर सोमवार को केंद्र सरकार पर निशाना साधा और कहा कि देश के गरीबों, मजदूरों और मध्य वर्ग को राहत देने के लिए पेट्रोलियम उत्पादों के दाम में वृद्धि तत्काल वापस ली जाए। उन्होंने यह भी कहा कि कोरोना वायरस महामारी, बेरोजगारी और ‘आर्थिक तूफान’ के इस दौर में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी करके सरकार आम लोगों पर सीधी चोट कर रही है। गांधी ने पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ कांग्रेस की ओर से सोशल मीडिया में चलाए गए ‘स्पीक अप अगेंस्ट फ्यूल हाइक’ (पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी के खिलाफ आवाज बुलंद करो) अभियान के तहत वीडियो संदेश जारी करके यह टिप्पणी की। उन्होंने कहा, ‘‘कोरोना, बेरोजगारी और आर्थिक तूफान आया हुआ है। इस तूफान से सबको नुकसान हुआ है। अमीरों को चोट लगी है, गरीबों को चोट लगी, गरीबों और मजदूरों को चोट लगी है। लेकिन सबसे ज्यादा दर्द मजदूरों, किसानों, मध्य वर्ग और वेतन भोगी वर्ग को हुआ है।’’

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘हमने कहा था कि इन वर्गों की सरकार को आर्थिक मदद करनी पड़ेगी। हमने सुझाव दिया था कि ‘न्याय’ योजना की तर्ज पर हर गरीब आदमी के खाते में कुछ महीने के लिए सीधे पैसे डालिए। इसके साथ ही एमएसएमई के लिए पैकेज का आग्रह भी किया था।’’ उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार ने गरीबों और छोटे कारोबारियों को राहत देने के बजाय 15 सबसे अमीरों के कर्ज बट्टे खाते में डाल दिए। राहुल गांधी ने आरोप लगाया, ‘‘सरकार ने सबसे बड़ा गलत काम यह किया कि हाल के समय में पेट्रोल और डीजल की कीमत में 22 बार बढ़ोतरी की। इससे कमजोर और गरीब लोगों को सीधी चोट की गई।’’ उन्होंने कहा, ‘‘कच्चे तेल की कीमत लगातार गिर रही है। हमने यह मांग की है कि उत्पाद शुल्क में बढ़ोतरी को वापस लिया जाए और पेट्रोल-डीजल के दाम में बढ़ोतरी को भी तत्काल वापस लिया जाए।’’ 

इसे भी पढ़ें: पेट्रोल-डीजल की कीमतों में हुई बढ़ोतरी अन्यायपूर्ण, तत्काल वापस ले सरकार: सोनिया

गौरतलब है कि पेट्रोल, डीजल के दाम में वृद्धि का सिलसिला लगातार 22वें दिन सोमवार को भी जारी रहा। डीजल के दाम सोमवार को 13 पैसे बढ़कर 80.53 रुपये प्रति लीटर की नई ऊंचाई पर पहुंच गये।पिछले तीन सप्ताह में डीजल के दाम में कुल मिलाकर 11.14 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि हो चुकी है। सार्वजनिक क्षेत्र की तेल विपणन कंपनियों की मूल्य अधिसूचना के मुताबिक सोमवार को पेट्रोल के दाम में पांच पैसे प्रति लीटर और डीजल के दाम में 13 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि की गई।इस वृद्धि के बाद दिल्ली में पेट्रोल का दाम 80.38 रुपये से बढ़कर 80.43 रुपये प्रति लीटर और डीजल का दाम 80.40 रुपये से बढ़कर 80.53 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...