गुना हत्याकांड: पुलिस ने एक और हत्यारे का किया एनकाउंटर, नरोत्तम मिश्र बोले- किसी को नहीं बख्शा जाएगा

गुना हत्याकांड: पुलिस ने एक और हत्यारे का किया एनकाउंटर, नरोत्तम मिश्र बोले- किसी को नहीं बख्शा जाएगा
ANI

मध्य प्रदेश पुलिस की ओर से एक और हत्यारे को एनकाउंटर में मार दिया गया है। इसके साथ ही इस हत्याकांड से जुड़े दो आरोपियों को एनकाउंटर में ढेर कर दिया गया है। जानकारी के मुताबिक यह एनकाउंटर राघोगढ़ के जंगलों में किया गया है। पुलिस लगातार हत्यारे का पीछा कर रही थी।

मध्य प्रदेश के गुना जिले में शिकारियों की ओर से की गई एक तरफा गोलीबारी में तीन पुलिसकर्मियों की मौत हो गई थी। बताया जा रहा है कि आज घटना राजधानी भोपाल से करीब 160 किलोमीटर दूर आरोन पुलिस थाना क्षेत्र के सागा बरखेड़ा गांव में शाहरोक रोड पर तड़के तीन बजे हुई, जब पुलिसकर्मी शिकारियों को पकड़ने गए थे। हालांकि इसके बाद से मध्य प्रदेश पुलिस लगातार एक्शन में है। मध्य प्रदेश पुलिस की ओर से एक और हत्यारे को एनकाउंटर में मार दिया गया है। इसके साथ ही इस हत्याकांड से जुड़े दो आरोपियों को एनकाउंटर में ढेर कर दिया गया है। जानकारी के मुताबिक यह एनकाउंटर राघोगढ़ के जंगलों में किया गया है। पुलिस लगातार हत्यारे का पीछा कर रही थी।

इसे भी पढ़ें: UP के बाद अब मध्य प्रदेश के मदरसों में भी राष्ट्रगान होगा अनिवार्य? नरोत्तम मिश्रा ने दिए संकेत

इस एनकाउंटर की पुष्टि मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने किया। नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि दूसरा आरोपी मुठभेड़ में मारा गया है। वह सुबह से ही भागने की कोशिश करता रहा लेकिन पुलिस ने उसे मार गिराया। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि किसी को बख्शा नहीं जाएगा, ऐसे अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई होगी। बाकी आरोपियों को भी जल्द गिरफ्तार किया जाएगा। दूसरी ओर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घटना को लेकर एक उच्चस्तरीय बैठक की और दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया। इसी बीच खबर सामने आ रही है कि घटना से जुड़े कुछ आरोपियों को पुलिस ने हिरासत में लिया है और आरोपियों के घरों पर मामा का बुलडोजर चल रहा है। 

इसे भी पढ़ें: MP के गुना मुठभेड़ के बाद एक्शन में सरकार, आरोपितों के घरों पर चला 'मामा का बुलडोजर'

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शहीद पुलिसकर्मियों के परिजनों को एक-एक करोड़ रुपये की सहायता राशि तथा सरकारी नौकरी देने की घोषणा की। उन्होंने घटनास्थल पर पहुंचने में देरी के लिए ग्वालियर क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) अनिल शर्मा का तबादला भी कर दिया। गृह मंत्री ने पत्रकारों को बताया, ‘‘कुछ बदमाशों (शिकारियों) की मौजूदगी की खुफिया सूचना मिलने पर पुलिस का एक दल गुना जिले में आरोन पुलिस थाने के तहत आने वाले एक स्थान पर पहुंचा। पुलिसकर्मियों ने बदमाशों को चारों ओर से घेर लिया। इसके बाद बदमाशों ने पुलिसकर्मियों पर गोलीबारी शुरू कर दी, जिसमें तीन पुलिसकर्मी मारे गए।’’ मिश्रा ने बताया कि गोलीबारी में पुलिस सब-इंस्पेक्टर राजकुमार जाटव और दो कांस्टेबल निलेश भार्गव तथा संतराम मीणा की मौत हो गई।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।