कांग्रेस ने पंजाब पार्टी प्रभारी पद से हरीश रावत को किया मुक्त, जानिए किसे मिला प्रभार

कांग्रेस ने पंजाब पार्टी प्रभारी पद से हरीश रावत को किया मुक्त, जानिए किसे मिला प्रभार

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ने कहा कि हरीश चौधरी को तत्काल प्रभाव से पंजाब और चंडीगढ़ का प्रभारी नियुक्त किया गया है। हरीश रावत ने पार्टी आलाकमान से आग्रह किया था कि उन्हें पंजाब प्रभारी की जिम्मेदारी से मुक्त किया जाए ताकि वह अपने गृह प्रदेश उत्तराखंड में कुछ महीने बाद होने वाले विधानसभा चुनाव पर ध्यान केंद्रित कर सकें।

नयी दिल्ली। कांग्रेस ने पार्टी के वरिष्ठ नेता हरीश रावत को पंजाब प्रभारी की जिम्मेदारी से मुक्त कर दिया है। दरअसल, हरीश रावत ने खुद पार्टी आलाकमान से ऐसा करने का आग्रह किया था। जिसके बाद अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) ने हरीश रावत को हटाकर पंजाब कांग्रेस प्रभारी की जिम्मेदारी हरीश चौधरी को सौंप दी है।

इसे भी पढ़ें: कैप्टन अमरिंदर का हरीश रावत पर पलटवार, बोले- सेक्युलरिज्म पर बात न करें, 14 साल BJP में रहकर सिद्धू कांग्रेस में आया

 

रावत ने राहुल से की थी मुलाकात

हरीश रावत ने पार्टी आलाकमान से आग्रह किया था कि उन्हें पंजाब प्रभारी की जिम्मेदारी से मुक्त किया जाए ताकि वह अपने गृह प्रदेश उत्तराखंड में कुछ महीने बाद होने वाले विधानसभा चुनाव पर ध्यान केंद्रित कर सकें। इतना ही नहीं उन्होंने उत्तराखंड में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर कुछ वक्त पहले पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की थी।

इस मुलाकात के बाद उन्होंने बताया था कि उत्तराखंड के विषय पर बातचीत करने के लिए आए थे। वहां पर चुनाव होने वाले हैं और मैं प्रदेश में आई प्राकृतिक आपदा के बारे में जानकारी देने आया था। 

इसे भी पढ़ें: पूर्व CM ने अपने भीतर के 'सेक्युलर अमरिंदर' को मार दिया, हरीश रावत बोले- ...कैप्टन को जाना चाहिए 

रावत ने फेसबुक पर लिखा था पोस्ट

वहीं हरीश रावत ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक पर लिखा था कि मैं आज एक बड़ी ऊहापोह से उबर पाया हूं। एक तरफ जन्मभूमि के लिए मेरा कर्तव्य है और दूसरी तरफ कर्मभूमि पंजाब के लिए मेरी सेवाएं है। स्थितियां जटिल होती जा रही हैं, क्योंकि ज्यों-जयों चुनाव नजदीक आएंगे, दोनों जगह व्यक्ति को पूर्ण समय देना पड़ेगा।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।