हरियाणा पुलिस की शानदार कार्रवाई, लापता मोबाइल बरामद कर लोगों को लौटाए

Haryana Police
हरियाणा के पुलिस महानिदेशक प्रशांत कुमार अग्रवाल ने आज इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि प्रदेशभर में मिली शिकायतों पर कार्रवाई करते हुए पुलिस की साइबर इकाइयों ने इन मोबाइल फोन के आईएमईआई नंबर को सर्विलांस पर ट्रैक करते हुए हैंडसेटस को बरामद किया। पुलिस द्वारा बरामद किए गए फोन में से अधिकांश फोन या तो यूज़र द्वारा गलती से गुम हो गए थे

 चंडीगढ़   हरियाणा पुलिस ने गत वर्ष 2021 के दौरान आमजन के गुम व चोरी हुए लगभग 4183 मोबाइल फोन सफलतापूर्वक बरामद कर उनके वास्तविक मालिकों को सौंपे हैं। बरामद किए गए मोबाइल फोन की बाजारी कीमत 3 करोड़ 34 लाख रुपये से अधिक है।

 

हरियाणा के पुलिस महानिदेशक  प्रशांत कुमार अग्रवाल ने आज इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि प्रदेशभर में मिली शिकायतों पर कार्रवाई करते हुए पुलिस की साइबर इकाइयों ने इन मोबाइल फोन के आईएमईआई नंबर को सर्विलांस पर ट्रैक करते हुए हैंडसेटस को बरामद किया। पुलिस द्वारा बरामद किए गए फोन में से अधिकांश फोन या तो यूज़र द्वारा गलती से गुम हो गए थे या विभिन्न स्थानों से चोरी हो गए थे। बरामद हैंडसेट में ज्यादातर कीमती हाई-एंड स्मार्टफोन शामिल हैं।

 

इसे भी पढ़ें: ओलंपिक की सुनहरी यादें ताजा कर गई हरियाणा की झांकी

 

यमुनानगर जिले में सर्वाधिक 538 मोबाइल फोन बरामद किए गए जबकि पंचकूला में 349, हिसार में 287, गुरुग्राम में 284, करनाल में 257, अंबाला में 241, कैथल में 229, नूंह में 188, फतेहाबाद में 186, जींद में 170 पलवल में 166, रोहतक में 132, पानीपत में 129, सिरसा में 122, दादरी में 119, नारनौल में 112, हांसी में 83, भिवानी में 67, कुरुक्षेत्र में 54, रेवाड़ी में 56, फरीदाबाद में 46 तथा झज्जर और सोनीपत में 34-34 मोबाइल फोन बरामद हुए। साथ ही हरियाणा पुलिस की जीआरपी इकाई ने भी 300 मोबाइल फोन बरामद करने में योगदान दिया।

इसे भी पढ़ें: साहित्य और शिक्षा के क्षेत्र में प्रोफेसर रघुवेंद्र तंवर का नाम पदमश्री अवार्ड के लिए हुआ नामित

बरामद होने के बाद पुलिस शिकायतकर्ताओं से संपर्क कर असल मालिकों को मोबाइल सौंप देती है। गुम हुआ फोन मिलना कई लोगों के लिए वास्तव में खुशी व भावनात्मक क्षण होता है। नागरिकों द्वारा साइबर पुलिस टीम की सराहना की जा रही है और इस महत्वपूर्ण मुहिम से पुलिस की तकनीकी प्रगति में उनका विश्वास भी बढ़ा है। डीजीपी ने कहा कि नवीनतम तकनीक के साथ लापता फोन का पता लगाना हरियाणा पुलिस की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से एक है, और चल रहे एक महत्वपूर्ण कार्यक्रम के तहत इस साल हम बेहतर रिकवरी की उम्मीद करते हैं।

इसे भी पढ़ें: असली गणतंत्र अंतिम व्यक्ति का उदयः मुख्यमंत्री मनोहर लाल

डीजीपी ने नागरिकों से अपील करते हुए कहा कि वे मोबाइल खासकर स्मार्टफोन का विशेष ध्यान रखें क्योंकि उनमें महत्वपूर्ण जानकारी होती है। इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेस के गुम या चोरी होने पर तुरंत पुलिस में शिकायत दर्ज करें ताकि आवश्यक ट्रैकिंग प्रक्रिया शुरू कर फोन के गलत इस्तेमाल को भी रोका जा सके।  

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड, भिवानी द्वारा 18 व 19 दिसम्बर, 2021 को संचालित करवाई गई हरियाणा अध्यापक पात्रता परीक्षा-2021 लेवल-1, 2 व 3 का परीक्षा परिणाम आज घोषित कर दिया गया हैं, जोकि बोर्ड की वेबसाइट www.bseh.org.in पर उपलब्ध है।  इस परीक्षा में लेवल-1 (पीआरटी) के कुल 13.70 प्रतिशत,  लेवल-2 (टीजीटी) के कुल 04.30 प्रतिशत एवं लेवल-3 (पीजीटी) के कुल 14.52 प्रतिशत अभ्यार्थी उत्तीर्ण हुए हैं।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़