मध्य प्रदेश उप चुनावों के बीच अवैध शराब, ड्रग और करोड़ों की नगदी जब्त

Illegal liquor, drugs and crores of cash seized
दिनेश शुक्ल । Oct 29, 2020 12:26PM
पुलिस द्वारा चलाए जा रहे विशेष अभियान के तहत निर्वाचन आयोग की आचार संहिता घोषणा के बाद उपचुनाव में अब तक 3.66 करोड़ रुपये की नकदी जब्त हो चुकी है। वही एक लाख लीटर से ज्यादा अवैध शराब भी बरामद की गई है, जिसका मूल्य 4.81 करोड़ रुपये बताया गया है।

भोपाल। मध्यो प्रदेश की 28 विधानसभा सीटों पर हो रहे उप चुनावों में जहाँ भाजपा और कांग्रेस की प्रतिष्ठा दाव पर लगी है। तो वही चुनाव जीतने के लिए के लिए प्रत्याशी हर तरह के हथकंडे अपना रहे है। वही चुनावी क्षेत्रों में पुलिस प्रशासन विशेष अभियान चलाकर अवैध गतिविधियों पर नियंत्रण करने में लगी है। पुलिस द्वारा चलाए जा रहे विशेष अभियान के तहत निर्वाचन आयोग की आचार संहिता घोषणा के बाद  उपचुनाव में अब तक 3.66 करोड़ रुपये की नकदी जब्त हो चुकी है। वही एक लाख लीटर से ज्यादा अवैध शराब भी बरामद की गई है, जिसका मूल्य 4.81 करोड़ रुपये बताया गया है।

इसे भी पढ़ें: हर बूथ जीतकर इतिहास बनाने का संकल्प लें युवा मोर्चा कार्यकर्ताः विष्णदुत्त शर्मा

निर्वाचन आयोग के मिली जानकारी के अनुसार अभी तक नकदी, शराब, ड्रग्स, वाहन सहित अन्य सामग्री मिलाकर 19.45 करोड़ रुपये की सामग्रियां जब्त की जा चुकी हैं। संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी मोहित बुंदस ने बताया कि प्रदेश के 19 जिलों में उपचुनाव की आदर्श आचरण संहिता लागू है। इस दौरान इंदौर सहित अन्य जिलों में 3.66 करोड़ रुपये की नकदी जब्त की गई है।

 

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश कांग्रेस ने मुख्यमंत्री और भाजपा सरकार के खिलाफ जारी किया आरोप पत्र, लगाए गंभीर आरोप

आबकारी विभाग ने एक लाख दो हजार 83 लीटर अवैध शराब जब्त की है, जिसका मूल्य 4.81 करोड़ रुपये है। पुलिस एवं नारकोटिक्स विभाग ने 1.522 किलोग्राम ड्रग्स जब्त की है, जिसका मूल्य 1.38 करोड़ रुपये है। खंडवा के मांधाता विधानसभा क्षेत्र की धनगांव चेक पोस्ट पर चेकिंग के दौरान दस लाख दस हजार रुपये की राशि जब्त हुई है। प्रकरण आयकर विभाग को सौंपा गया है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़