हर बूथ जीतकर इतिहास बनाने का संकल्प लें युवा मोर्चा कार्यकर्ताः विष्णदुत्त शर्मा

Bharatiya Janata Yuva Morcha, activist, Vishnudutt Sharma
दिनेश शुक्ल । Oct 29, 2020 9:52AM
शर्मा ने कहा कि हमारी सरकार ने पिछले 6 महीनों में युवाओं की योजनाएं फिर से शुरू की हैं। भर्तियों से रोक हटाई जा रही है। यह व्यवस्था की जा रही है कि सरकारी नौकरियां प्रदेश के युवाओं को मिले, क्योंकि हमारी सरकार यह मानती है कि प्रदेश के संसाधनों पर पहला हक यहां के युवाओं का है।

भोपाल। साथियो, यह चुनाव अलग प्रकार चुनाव है। यह प्रदेश को बचाने का चुनाव है और इसमें युवाओं की बड़ी भूमिका है। 2018 के चुनाव की तरह छल-कपट का सहारा लेने वाली कांग्रेस की झूठ मंडली फिर सक्रिय हो गई है। इस झूठ मंडली को जवाब देने के लिए युवा मोर्चा सभी 28 सीटों पर अभियान चला रहा है। लेकिन हमें ये चुनाव सिर्फ जीतना नहीं है। जीत तो हम वैसे भी चुके हैं, ये कांग्रेस के नेताओं की बौखलाहट बता रही है। बल्कि युवा मोर्चा के कार्यकर्ता प्रदेश की सभी 28 सीटों के हर बूथ पर जीत हासिल कर इतिहास बनाने का संकल्प लें। यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद विष्णुदत्त शर्मा ने बुधवार को अशोकनगर में युवा सम्मेलन को संबोधित करते हुए कही। सम्मेलन को युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. अभिलाष पांडेय ने भी संबोधित किया।

 

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस के खिलाफ एक आरोप पत्र जनता के मन में, 03 तारीख को सुनाएगी फैसला : रजनीश अग्रवाल

कमलनाथ ने किया युंवाओं से अन्याय

शर्मा ने कहा कि कमलनाथ सरकार ने युवाओं को धोखा दिया। इस सरकार ने युवाओं के साथ अन्याय किया। कांग्रेस ने युवाओं को बेरोजगारी भत्ता देने का वादा किया था, लेकिन किसी युवा को एक रुपया भी मिला क्या? उन्होंने कहा कि हमारी सरकार 70 फीसदी से अधिक अंक लाने वाले युवाओं को लेपटॉप देती थी, कमलनाथ सरकार ने वह योजना बंद कर दी। हमारी सरकार गरीब छात्रों की फीस भरकर उनका डॉक्टर-इंजीनियर बनने का सपना पूरा कर रही थी, लेकिन कमलनाथ सरकार ने यह योजना भी बंद करके गरीब युवाओं से उनका सपना छीन लिया। आज प्रदेश के नौजवान कमलनाथ से यह पूछना चाहते हैं कि उनका हक छीनने, उनके सपने छीनने का अधिकार उन्हें किसने दिया? शर्मा ने कहा कि हमारी सरकार ने पिछले 6 महीनों में युवाओं की योजनाएं फिर से शुरू की हैं। भर्तियों से रोक हटाई जा रही है। यह व्यवस्था की जा रही है कि सरकारी नौकरियां प्रदेश के युवाओं को मिले, क्योंकि हमारी सरकार यह मानती है कि प्रदेश के संसाधनों पर पहला हक यहां के युवाओं का है।

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस ने जनता को धोखा देकर सरकार बनाई थी : कैलाश विजयवर्गीय

स्वर्णिम मध्यप्रदेश को बंटाढार बना दिया

विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि कमलनाथ और दिग्विजय सिंह ने 15 महीनों में सिर्फ मध्य प्रदेश को लूटने का काम किया। जिस मध्य प्रदेश को भाजपा की सरकार ने 15 सालों में स्वर्णिम मध्यप्रदेश बनाया था, उसे इन्होंने 15 महीनों में 2003 का बंटाढार मध्यलप्रदेश बना दिया। कमलनाथ ने वल्लभवन को भ्रष्टाचार और दलाली का अड्डा बना दिया। कमलनाथ अपने दफ्तर में बैठकर उद्योगपतियों, दलालों, ठेकेदारों से मिलते रहे और दिग्विजय सिंह पर्दे के पीछे से सरकार चलाते रहे। शर्मा ने कहा कि कमलनाथ सरकार ने किसान, नौजवान, गरीब, माता-बहनों हर वर्ग से झूठ बोला, छल किया।

इसे भी पढ़ें: जब हम हारे तो हमारी खूबियां जनता को याद आईः उमा भारती

हां, हम प्रदेश को आगे ले जाने वाले गरीब युवाओं के पैरों की धूल हैं

उन्होंने कहा कि कमलनाथ हमारे नेता शिवराजसिंह चौहान को नंगा-भूखा कहते हैं। कांग्रेस के लोग कहते हैं कि शिवराज जी कमलनाथ के पैरों की धूल के बराबर भी नहीं हैं। शर्मा ने कहा कि भाजपा के नेता गरीब परिवारों के बेटे हैं। वे कमलनाथ के पैरों की धूल नहीं हैं, बल्कि उन गरीब नौजवानों के पैरों धूल हैं, जो प्रदेश को आगे ले जा रहे हैं। शर्मा ने कहा कि कमलनाथ ने मंत्री श्रीमती इमरती देवी पर जो टिप्पणी की थी, उसे चुनाव आयोग ने आपत्तिजनक माना है और कमलनाथ को चेतावनी दी है। क्या नारीशक्ति का इस तरह अपमान करने वाले व्यक्ति को प्रदेश में रहना चाहिए? शर्मा ने कहा कि कमलनाथ को यह भ्रम हो गया है कि उन्हें जनता ने चुना है, वे जननेता हैं। वास्तव में वे जननेता नहीं हैं, उन्हें एक परिवार का दरबारी होने का रिवॉर्ड मिला है।

 

इसे भी पढ़ें: भाजपा ने चुनाव आयोग में की दिग्विजय सिंह और आचार्य प्रमोद कृष्णन की शिकायत

भाजपा पर आरोप लगाने से पहले अपने गिरेबान में झांके

शर्मा ने कहा कि कमलनाथ हमारी सरकार पर घोटाले करने का आरोप लगाते हैं। जबकि हमारी सरकार ने सड़क, बिजली, पानी जैसी सुविधाएं उपलब्ध कराकर प्रदेश को स्वर्णिम मध्यप्रदेश की राह पर आगे बढ़ाया। शर्मा ने कहा कि कमलनाथ हम पर आरोप लगाते हैं, लेकिन वे खुद 84 के सिख दंगों के आरोपी हैं। जनता उनसे यह पूछना चाहती है कि उनके पी.ए. के पास 281 करोड़ रुपये कहां से आए? कमलनाथ कहते हैं कि वे किसी के मामा नहीं हैं, बस कमलनाथ हैं। शर्मा ने कहा कि रतुल पुरी का नाम 7600 करोड़ के अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले में आया है। निवेशकों के पैसे के 787 करोड़ रुपये के घोटाले में भी उनका नाम है। शर्मा ने कहा कि प्रदेश की जनता कमलनाथ जी से यह जानना चाहती है कि उनका घोटालेबाज रतुल पुंरी से क्या रिश्ता है, वे उसके मामा हैं या नहीं? शर्मा ने कहा कि कमलनाथ जी ने हाल ही में कहा था कि वे उद्योगपति नहीं हैं। कमलनाथ जी से प्रदेश की जनता यह पूछना चाहती है कि यदि वे उद्योगपति नहीं है, तो उन्होंने अपने घोषणा पत्र में जो अरबों की संपत्ति बताई है, वो उनके पास कहां से आई? कमलनाथ जब छिंदवाड़ा आए थे, तो एक झोला लेकर आए थे। अब अरबपति कैसे बन गए?

इसे भी पढ़ें: विधायक तोड़ने का काम कांग्रेस ने शुरू किया, खत्म भाजपा ने कर दियाः गोपाल भार्गव

तीन तारीख को मनाएंगे असत्य पर सत्य की जीत का पर्वः डॉ. अभिलाष पांडेय

इस दौरान युवा सम्मेलन को संबोधित करते हुए युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. अभिलाष पांडेय ने कहा कि यह चुनाव की बेला है और मैं अशोकनगर से पहले 22 विधानसभाओं का दौरा कर चुका हूं। मैं आपको यह विश्वास दिलाने आया हूं कि 10 नवम्बर को जब मतगणना होगी, तो हर ईवीएम से कमल का फूल ही खिलेगा। श्री पांडेय ने कहा कि कमलनाथ ने प्रदेश के युवाओं से झूठ बोला, उनके साथ धोखा किया। लेकिन आज अशोकनगर के साथ प्रदेश भर के युवा ये संकल्प ले रहे हैं कि हम असत्य पर सत्य की जीत का पर्व विजयादशमी तीन नवम्बर को मनाएंगे और कमल का बटन दबा-दबाकर सत्य को जीत दिलाएंगे।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़