PM मोदी के स्टाइल को कॉपी करेंगे इमरान, इस वजह से हो सकती है इंटरनेशनल बेइज्जती

By अभिनय आकाश | Publish Date: Jul 18 2019 6:47PM
PM मोदी के स्टाइल को कॉपी करेंगे इमरान, इस वजह से हो सकती है इंटरनेशनल बेइज्जती
Image Source: Google

नरेंद्र मोदी ने पीएम बनने के बाद जब पहली बार अमेरिका का दौरा किया था तो वहां रहने वाले भारतीय अमेरिकी समुदाय ने पीएम मोदी का भव्य स्वागत किया था, जिसकी काफी चर्चा हुई थी। 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने न्यूयॉर्क के मैडिसन स्क्वायर गार्डन में एक कार्यक्रम में करीब 20 हजार लोगों को संबोधित किया था।

नरेंद्र मोदी यानि भारत की कूटनीति का वो सिक्का जिसका संसार की चौपालों पर डंका बज रहा है। गुजरती हुई सत्ता और आती हुई सत्ता के संधिस्थल पर सियासी सफलता के साम्राज्य बने मोदी लाखों-करोड़ों लोगों के प्रेरणा स्रोत भी हैं। आतंक और आतंकवादियों से ग्रसित पाकिस्तान और उसके कप्तान इमरान खान के लिए भी प्रधानमंत्री मोदी प्रेरणा के स्रोत बन गए हैं। जिसकी वजह से इमरान पीएम मोदी को कॉपी करने से नहीं चूक रहे हैं। वैसे तो इमरान द्वारा चुनाव प्रचार के दौरान पीएम मोदी की तरह वोट मांगते, उनके अंदाज में अपने देश को संबोधित करते और स्पीच देते अक्सर नजर आए हैं। लेकिन इस बार इमरान ने मोदी स्टाइल की नकल करने की योजना बनाई है। 

इसे भी पढ़ें: कुलभूषण जाधव मामला: चीन की न्यायाधीश बहुमत से पाकिस्तान को लगा झटका

एक अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट के अनुसार इमरान खान 21 जुलाई से शुरु होने वाली अपनी तीन दिवसीय यात्रा के दौरान अमेरिका में ‘मोदी स्टाइल’ में एक कार्यक्रम करना चाहते हैं। इस कार्यक्रम में अमेरिका में रहने वाले पाकिस्तानी समुदाय के जुटने की बात कही जा रही है। इमरान खान का यह कार्यक्रम वॉशिंगटन डीसी के कैपिटल वन एरेना मे आयोजित हो सकता है। जिसके बाद इमरान खान अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात 22 जुलाई को मुलाकात करेंगे। 
अगर आपको याद नहीं हो तो बता दें कि नरेंद्र मोदी ने पीएम बनने के बाद जब पहली बार अमेरिका का दौरा किया था तो वहां रहने वाले भारतीय अमेरिकी समुदाय ने पीएम मोदी का भव्य स्वागत किया था, जिसकी काफी चर्चा हुई थी। 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने न्यूयॉर्क के मैडिसन स्क्वायर गार्डन में एक कार्यक्रम में करीब 20 हजार लोगों को संबोधित किया था। जिससे प्रेरणा लेकर अति उत्साह में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ऐसा ही एक कार्यक्रम करने के सपने संजो रहे हैं। 
लेकिन आपको बता दें कि इमरान खान की कोशिश से उन्हें फजीहत भी झेलनी पड़ सकती है। दरअसल, ऐसा बताया जाता है कि अमेरिका में करीब 5 लाख पाकिस्तानी या पाकिस्तानी मूल के लोग रहते हैं। लेकिन इनमें से सभी इमरान खान की पार्टी तहरीक-ए-इंसाफ के समर्थक नहीं हैं। इनमें से कुछ मुहाजिर, कुछ ब्लूच तो कुछ पीपीपी या पीएमएल (नवाज) के समर्थक हैं। ऐसे में इमरान के इस कार्यक्रम में दूसरी पार्टियों के समर्थकों द्वारा विरोध प्रदर्शन भी किया जा सकता है, जिससे पाकिस्तान की अंतरराष्ट्रीय बेइज्जती भी हो सकती है। 
लेकिन इन सभी बातों से बेपरवाह पाकिस्तान इन दिनों अमेरिका दौरे से पहले अपनी आतंक परस्ती से इतर अपनी अलग छवि पेश करना चाहता है। इससे पहले वैश्विक आतंकी हाफिज सईद के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उसे गिरफ्तार कर लिया गया। जिसके माध्यम से पाकिस्तान ने यह जताने की कोशिश की कि वो आतंकवाद के खिलाफ एक्शन मोड में है। वहीं भारत ने कुलभूषण जाधव मामले में कूटनीति से लेकर कानून तक पाकिस्तान को पटखनी दी है और दूसरी तरफ यूएस में फिर से मोदी मैजिक की तस्दीक होगी। सितंबर में संयुक्त राष्ट्र की महासभा शुरू हो रही है, जिसमें पीएम हिस्सा लेने जाएंगे और अमेरिकी दौरे पर एक बार फिर वह बड़ी संख्या में भारतीयों को संबोधित करेंगे। पीएम के इस कार्यक्रम को #HowdyModi नाम दिया गया है।
 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video