लगता है बालाकोट स्ट्राइक भूल गए हैं इमरान खान, तीसरी बरसी पर भारत को दे रहे धमकी

लगता है बालाकोट स्ट्राइक भूल गए हैं इमरान खान, तीसरी बरसी पर भारत को दे रहे धमकी

इमरान खान ने एक ट्वीट किया है। अपने ट्वीट में इमरान खान ने लिखा कि मैंने हमेशा बातचीत और कूटनीति के माध्यम से संघर्ष समाधान में विश्वास किया है। लेकिन कभी भी इसे कमजोरी के संकेत के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। जैसा कि हमने 27 फरवरी 2019 को भारत को करके दिखाया है।

पाकिस्तान हमेशा भारत के खिलाफ नापाक साजिशों को अंजाम देने में जुटा रहता है। एक ओर जहां रूस और यूक्रेन की युद्ध की वजह से पूरी दुनिया चिंतित है तो वहीं इमरान खान भारत को धमकी देते नजर आ रहे हैं। इसके साथ ही यूक्रेन रूस विवाद को इमरान खान भारत से जोड़ने की भी कोशिश कर रहे हैं। दरअसल, इमरान खान ने एक ट्वीट किया है। अपने ट्वीट में इमरान खान ने लिखा कि मैंने हमेशा बातचीत और कूटनीति के माध्यम से संघर्ष समाधान में विश्वास किया है। लेकिन कभी भी इसे कमजोरी के संकेत के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। जैसा कि हमने 27 फरवरी 2019 को भारत को करके दिखाया है।

इसके आगे इमरान खान ने लिखा कि जब भी भारत हम पर हमला का रास्ता चुनेगा, तो राष्ट्र समर्थित हमारे सशस्त्र बल आक्रामकता से इसका जवाब देंगे जो सभी स्तरों पर प्रबल होंगे। इसके साथ ही एक और एक ट्वीट में इमरान खान ने लिखा कि हम अपने देश और अपने राष्ट्र की सुरक्षा के प्रति अपनी प्रतिबद्धता दृढ़ और अडिग हैं। आपको बता दें कि पुलवामा हमले के बाद भारत ने बालाकोट एयर स्ट्राइक के जरिए पाकिस्तान में आतंकी ठिकानों को तहस-नहस कर दिया था। भारत ने बालाकोट एयर स्ट्राइक को 26 फरवरी 2019 को अंजाम दिया था। इमरान खान एक और वजह से इस वक्त सुर्खियों में हैं। दरअसल, युद्ध के वक्त इमरान खान ने रूस का दौरा किया है जिसकी वजह से लगातार उनकी आलोचना हो रही है। 

इसे भी पढ़ें: चीन से खरीदे पाकिस्तान के युद्ध टैंक, और तोप खिलौना साबित हुए , नहीं कर पा रहे फायर

वहीं दूसरी ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज एक चुनावी सभा में बालाकोट एयर स्ट्राइक का जिक्र किया और साफ संकेत दे दिया कि अगर हमें कोई कमजोर समझने की कोशिश करेगा तो यह उसकी भूल है। कल बालाकोट एयर स्ट्राइक के तीन साल पूरे होने पर देश ने अपने वायुसेना के पराक्रम को भी याद किया। हमारे शूरवीरों ने देश को चुनौती देने वालों को उनके घर में ही घुसकर मारा था। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इस समय जो वैश्विक हालात हैं, उस पर प्रत्येक भारतीय की नजर है। भारत ने हमेशा अपने एक-एक नागरिक के जीवन की सुरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता दी है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।