जय राम सरकार फर्जी डिग्री घोटाले में शांता कुमार की बात तो सुने --कांग्रेस प्रवक्ता दीपक शर्मा

जय राम सरकार  फर्जी डिग्री घोटाले में शांता कुमार की बात तो सुने  --कांग्रेस प्रवक्ता दीपक शर्मा

कांग्रेस प्रवक्ता दीपक शर्मा ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री श्री शांता कुमार जी भी सरकार से बार-बार गुहार लगा रहे हैं कि इस मामले पर सरकार की जो कार्यप्रणाली है वह धीमी है और सरकार इस बारे में कहा कार्यवाही नहीं कर रही है। कांग्रेस पार्टी शांता कुमार जी की इस बात से पूर्ण तरह सहमत हैं और सरकार से हम यह आग्रह करना चाहेंगे कि कम से कम आप शांता कुमार जी की बात को तो मानी जाये

शिमला। हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने प्रदेश के फर्जी डिग्री घोटाले की जांच पर सरकार के सुस्त रवैये पर हैरानी जताते हुए कहा है कि भाजपा सरकार अगर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर पा रही है। व मामले को रफा दफा किया जा रहा है।

 

 

इसे भी पढ़ें: ड्रिग्री फर्जीवाडे की जांच न होने पर कांग्रेस हुई मुखर तो शांता कुमार ने भी अपनी ही सरकार की मंशा पर सवाल उठाया

 

कांग्रेस प्रवक्ता दीपक शर्मा ने आज यहां कहा कि  भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री शांता कुमार जी भी सरकार से बार-बार गुहार लगा रहे हैं कि इस मामले पर सरकार की जो कार्यप्रणाली है वह धीमी है और सरकार इस बारे में कहा कार्यवाही नहीं कर रही है। कांग्रेस पार्टी शांता कुमार जी की इस बात से पूर्ण तरह सहमत हैं और सरकार से हम यह आग्रह करना चाहेंगे कि आप जनता की ना सुनते हो आप जन समस्याओं के बारे में अगर लापरवाही हो या आप कांग्रेस पार्टी द्वारा दिए गए सुझावों को आलोचना समझकर न मानते हो तो कम से कम आप शांता कुमार जी की बात को तो मानी  जाये और इसकी जांच सीबीआई से कराई जाये।  ताकि दूध का दूध और पानी का पानी हो सके। 

इसे भी पढ़ें: वाणिज्य और उद्योग, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री पीयूष गोयल कल से हिमाचल दौरे पर

दरअसल, हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार ने प्रदेश की जय राम ठाकुर के कामकाज पर सवाल उठाते हुये कहा कि  सरकार को कटघरे में ला खडा कर दिया है। उन्होंने कहा  कि  फर्जी डिग्री और फर्जी संस्थान हिमाचल के माथे पर कलंक है। यह शर्म की बात है। उन्होंने कहा कि फर्जी डिग्रियां बिकती रही हैं और हिमाचल सरकार को पता ही नहीं चल पाया। जब हम विपक्ष में होते थे तो सीआईडी होटल के नीचे बैठी रहती थी। कौन आ रहा है कौन जा रहा है। लेकिन इस फर्जीवाड़े की किसी को भी भनक तक नहीं लगी। 

उन्होंने हैरानी जताई कि यह कैसे संभव है कि पुलिस व सरकार को इस मामले की भनक नहीं लग पाई। पैसे के आगे बहुत कुछ बिक जाता है। फर्जी डिग्री की जांच धीरे-धीरे हो रही है। कुछ लोग जेलों में बंद होने चाहिए, वे बाहर  खुलेआम घूम रहे हैं। उन्होंने कहा कि फर्जी डिग्री जांच से संतुष्ट नहीं हूं। यह देश का दुर्भाग्य है कि भ्रष्टाचार होता है। जांच चलती ही रहती है। मेरी प्रदेश के डीजीपी संजय कुंडू से भी बात हुई है। लेकिन कुछ नहीं हो रहा है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...